स्टेट बैंक के कर्मचारियों पर 2 लाख निकालने का आरोप

 जौनपुर। नगर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला मीरमस्त निवासी अफसाना बानो पत्नी नसीम अली ने भारतीय स्टेट बैंक की रूहट्टा शाखा के कर्मचारियों पर उसके खाते से 2 लाख रुपये निकालने का आरोप लगाया है। उसका कहना है कि वह बीते 6 मार्च को अपने खाते से पैसा निकालने बैंक गई थी। उस समय खाते में 207281 रुपये था। उसने बैंक की एक महिला कर्मचारी से कहा कि उसे अपने पिता के खाते में एक लाख रुपये ट्रांसफर करना है। महिला कर्मचारी ने उसे सामने बैठे अधिकारी के पास भेज दिया बोला कि उनसे मिल लो वही बताएंगे। जब वह अधिकारी से मिलने गई तो उन्होंने कहा कि चेक बुक लेकर आना। वह घर से चेक बुक लेकर आई और उक्त अधिकारी को दे दिया। थोड़ी देर बाद पति के मना करने पर उसने पैसा ट्रांसफर करने से इंकार कर दिया और अधिकारी से चेक बुक वापस ले लिया। इसके बाद वह मुंबई चली गई । वहां से वापस आने पर रोजमर्रा के खर्च के लिए पैसा निकालने बैंक गई तो कैशियर ने बताया कि खाते में पैसा नहीं है। इस पर उसे बहुत हैरत हुई। उसने पासबुक प्रिंट कराया तो ज्ञात हुआ कि उसके खाते से चेक संख्या 74 816 के माध्यम से 2 लाख रुपये निकाल लिया गया है। उसने अपनी चेक बुक की जांच की तो उसमें से दो स्लिप 70816 एवं 74 817 गायब थी। पूछने पर बैंक कर्मचारियों ने बताया कि इरफान अली के खाते में पैसा ट्रांसफर हुआ है ।जब पीड़िता ने कहा कि उसने किसी चेक पर हस्ताक्षर नहीं किए थे और ना किसी इरफान अली को जानती है। न बैंक से कोई फोन आया और ना ही चेक का क्लीयरेंस ही मांगा गया। तो बैंक के कर्मचारियों एवं मैनेजर ने डांट कर भगा दिया। जिस पर उसने 5 मई को प्रभारी निरीक्षक कोतवाली को प्रार्थना पत्र देकर न्याय की गुहार की। दारोगा गोविंद मिश्रा जांच के लिए उसके साथ बैंक गए वहां पर सीसीटीवी फुटेज और हस्ताक्षर का मिलान किया। उस समय उन्होंने बैंक कर्मचारियों व अन्य लोगों के सामने कहा कि तुम्हारा जाली हस्ताक्षर बनाया गया है। बैंक रिकॉर्ड और चेक पर किया गया हस्ताक्षर मेल नहीं खा रहा है। इसके बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की और ना ही मुकदमा दर्ज किया। 20 दिन तक पीड़िता को सिर्फ दौड़ाया गया। तक हारकर उसने जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक के साथ एडीजी वाराणसी को जरिए ईमेल एवं व्हाट्सएप करके घटना की सूचना दी किंतु इसके बावजूद भी कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। इधर उसके पति ने धमकी दी है कि अगर पैसा वापस नहीं मिला तो तुम्हें तलाक दे दूंगा। पीड़िता ने रोते हुए बताया कि उसके तीन छोटे-छोटे बच्चे हैं वह बहुत परेशान है। अगर अगर न्याय नहीं मिला तो वह कहीं कि नहीं रहेगी। उसे डर है कि अगर जल्दी ही सीसीटीवी फुटेज सुरक्षित नहीं रखा गया तो बैंक कर्मचारी बच जाएंगे और उसके साथ न्याय नहीं हो पाएगा और ना ही पैसा वापस मिल पाएगा।

Related

news 9143679747298405077

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item