प्रमुख सचिव के निरीक्षण में लापता कोरोना पेसेंट मिला प्राइवेट अस्पताल में

जौनपुर। गाँवो में कोरोना महामारी को रोकने के लिए लगाए गए स्वास्थ्य कर्मचारी और निगरानी समितियां कितनी गंभीरता से कार्य कर रही है इसका अंदाजा बदलापुर तहसील के रूपचंद्रपुर गांव की स्थिति से लगा सकते है। इस गांव में  89 प्रवासी मजदूर आए थे , जाँच में एक पाज़िटिव मिला था , कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के बाद भी स्वास्थ्यकर्मियों उसे अस्पताल में भर्ती नहीं कराया तो वह एक प्राइवेट चिकत्सालय में भर्ती हो गया। इसका खुलासा हुआ कोविड-19 के नोडल अधिकारी प्रमुख सचिव भुवनेश कुमार सिंह की जाँच में।   

गुरुवार को कोविड-19 के नोडल अधिकारी प्रमुख सचिव भुवनेश कुमार सिंह ने बदलापुर तहसील के रूपचंद्रपुर गांव  का निरीक्षण किया तथा पंचायत सचिव पूजा सोनी से बाहर आये प्रवासियो और उनकी जाँच के बारे में जानकारी प्राप्त किया। पंचायत सचिव ने बताया कि गांव मे 89 प्रवासी मजदूर आए थे जिसमे एक पाज़िटिव है। तो प्रमुख सचिव ने पाज़िटिव मरीज की जानकारी पूछा तो लोग नही बता पाए। जिस पर उन्होंने नाराजगी जताते हुए बदलापुर चिकित्सा अधीक्षक डॉ संजय दुबे को कड़ी फटकार लगाते हुए पॉजिटिव मरीज का पता लगाकर सूचित करने और उसे जिले के एल टू अस्पताल मे भर्ती कराने का आदेश दिया था ।  

अधिकारियो ने उसके ग्रामीणों से बात किया तो पता चला नन्हकू राम  की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई तो वह होम आइसोलेशन था इसके बाद तबियत खराब होने पर वह बदलापुर स्थित माॅ गायत्री अस्पताल मे भर्ती हो गया।आज एसडीएम अमिताभ यादव और चिकित्साधीक्षक डाॅ संजय दूबे मय फोर्स सहित बदलापुर के माॅ गायत्री प्राइवेट हास्पिटल मे छापेमारी कर भर्ती कोविड पाज़िटिव मरीज को एम्बुलेंस से  एल टू अस्पताल भेजवाया। उस  अस्पताल के सभी लोगो का आरटी पीसीआर सैम्पल लेकर जांच के लिए भेजा। 

इसके बाद भी निजी हास्पिटल के खिलाफ अधिकारियों द्वारा कोई भी कार्रवाई नही की गई जिससे बदलापुर मे उक्त हास्पिटल सहित अन्य कई हास्पिटल भी आक्सीजन उपलब्ध होने के नाम पर कोविड मरीजो को भर्ती कर भारी भरकम रूपए ऐठने मे लगे हुए है। 


Related

news 8379027518372922562

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item