स्वतंत्रा सेनानी ब्रह्मदेव वर्मा का हुआ निधन*

  

 ब्रह्मदेव वर्मा की पुत्री श्रीमती विजय लक्ष्मी का विवाह ग्राम सलखापुर निवासी श्री वीरेन्द्र श्रीवास्तव से हुआ नाती श्री विजय प्रकाश श्रीवास्तव (एडवोकेट) एवं श्री शिव प्रकाश हैं। भतीजा विपिन प्रकाश रवीन्द्र मणि प्रविन्द्रमणि संदीप उदयमणि एवं देशदीपक हैं श्री ब्रह्मदेव वर्मा जी अपने पीछे एक भरापूरा परिवार छोड़कर गये हैं श्री ब्रह्मदेव वर्मा के निधन का समाचार पाकर क्षेत्रमें शोक की लहर दौड़ गयी। काफी संख्या में लोग जमैथा गांव पहुंचे। जिला प्रशासन की तरफ से श्रीमान तहसीलदार सदर जौनपुर उपस्थित रहे सभी ने स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के निधन पर शोक जताया। श्री ब्रह्मदेव वर्मा मात्र 16 वर्ष की आयु में ही आजादी की लड़ाई में कूद पड़े। वर्ष 1942 में अंग्रेजों के विरुद्ध लडाई में उन्हें पहली बार गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। क्रांतिकारी स्वभाव के कारण ये लगातार संघर्षरत रहे और उनकी लड़ाई देश की आजादी तक जारी रहा। देश की आजादी के बाद इन्हे कलेक्टोरेट में पेशकार के पद पर नियुक्त मिला और वे अपने सेवाकाल में सर्वप्रिय रहे। श्री ब्रह्मदेव वर्मा जी के निधन पर मनीष श्रीवास्तव (सभासद)अपने सम्पूर्ण परिवार की तरफ से सम्पूर्ण देश एवं उप्र0 वासियों की तरफ से सादर श्रद्धान्जली समर्पित किया। 

Related

news 5713539568497685422

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item