लाईव क्लास के माध्यम से छात्रो का किया गया ज्ञान वर्धन

 जौनपुर । राजा श्री कृष्ण दत्त पीजी कॉलेज जौनपुर के पत्रकारिता विभाग द्वारा आज दिनांक 23 मई 2021 को 12 बजे से पत्रकारिता की दूसरी " ऑनलाइन" क्लास का सफलतापूर्वक संचालन किया गया। विभागाध्यक्ष  सुधाकर शुक्ला के अध्यक्षता में यह क्लास 1 घंटे तक चली। क्लास की शुरुआत जौनपुर मे उड़ाई जा रही लॉक डाउन की धज्जियां के विमर्श से शुरू हुआ। छात्र-छात्राओं ने अपने क्षेत्र में हो रही आंशिक  लॉक डाउन /कोरोना कर्फ्यू की अनदेखी को सामने रखा। सुधाकर सर ने छात्रों को सुझाव दिया कि अगर ऐसी कोई घटना आप के आस पास घट रही हो तो उसकी वीडियोग्राफी या फोटोग्राफी अवश्य करें।


छात्रों ने अपने पाठ्यक्रम से संबंधित सवालों को सर के सामने रखा जिसमें पहला सवाल 1857 के क्रांति संबंधित था की भारत का पहला स्वतंत्रता संग्राम या प्रथम स्वाधीनता क्रांति जिसे भारतीय इतिहास में महान क्रांति के नाम से जाना जाता है इसमें पत्रकारिता की क्या भूमिका रही?
सर ने बताया कि, " राष्ट्रीय चेतना के विकास में पत्रकारिता की प्रमुख भूमिका रही स्वतंत्रता संग्राम के नायकों का सशक्त अस्त्र पत्रकारिता रही है अंग्रेज सरकार प्रतिपक्ष इस शक्ति से परिचित थी इसलिए तरह तरह के कानूनों द्वारा इस शक्ति को प्रतिबंधित और कुंठित करने के लिए सदा सक्रिय रहती थी। "

उन्होंने स्वतंत्रता संग्राम के समकालीन कुछ पत्रिकाए और समाचार पत्रों का भी जिक्र किया उन्होंने बताया की " स्वराज्य "इलाहाबाद से निकलने वाला एक "राष्ट्रवादी साप्ताहिक समाचारपत्र" था। यह 1907 में उर्दू में निकलने वाला एक ऐसा अखबार था जिसने ढाई साल में ही आठ सम्पादक देखे। इसके सम्पादक जल्द बदलते रहे, क्योंकि अखबार ने अंग्रेजी सरकार के विरुद्ध अपनी कलम की धार कभी भोथरी नहीं होने दी। इसके एवज में सम्पादकों को कालापानी की सजा हो गई। सात सम्पादकों को कुल मिलाकर 94 साल 9 महीने की सजा हुई।

किन्तु यहां महत्व का विषय यह है कि हर सम्पादक के जेल जाने के बाद स्वराज में एक विज्ञापन छपता था

सम्पादक चाहिए- वेतन दो सूखे ठिक्कड़ (रोटी), एक गिलास ठंडा पानी, हर सम्पादकीय लिखने पर 10 वर्ष काले पानी की कैद।
फिर भी लोग डरे नहीं, दमन के सम्मुख झुके नहीं। स्वाभाविक रूप से उनकी प्रेरणा का आधार बिगड़ती व्यवस्था का अन्तर्नाद ही था।
औऱ इसी निडर पत्रकारिता ने स्वतंत्रता का मार्ग प्रशस्त किया।

इसके अलावा उन्होंने क्रॉस मीडिया ओनरशिप पे पूछे गए सवाल पर बताया कि क्रॉस मीडिया ओनरशिप वह ओनरशिप है जिसमें कई सारे मीडिया समूह मिलकर एक साथ काम करते हैं और सभी का उस संस्था में साझेदारी होती है।
और इसके साथ ही दुनिया के सबसे पहले लांच हुए ब्रॉडकास्टिंग सेटेलाइट के बारे में भी विस्तार से समझाया।

     त्पत्रकारों को   परेशान किये जाने  के 
 बारेे    मे  सोचते हुए सर से इस बारे में बात की। सुधाकर सर ने बड़े ही सरल शब्दों में पत्रकारिता का कर्तव्य बच्चों को समझाया और उन्होंने कहा कि यह क्षेत्र त्याग का है अगर आप त्याग करने के लिए सक्षम नहीं है तो आप इस फील्ड को छोड़ दें क्योंकि यह संघर्ष से भरा फील्ड है और इसमें आप को हिम्मत रखनी होगी। उन्होंने छात्रों को कहा कि सबसे पहले वह पत्रकारिता में अपने पैर जमा ले उसके बाद ही बड़े संगठनों या बड़े अधिकारियों के बुराई पर अपनी कलम चलाये।

कई छात्र -छात्रों ने अपने पाठ्यक्रम से संबंधित सवालों का जवाब पाया। इसी के साथ क्लास समापन की ओर बढ़ा। सर ने छात्र - छात्राओं को
गृह कार्य में प्राकृतिक फोटोग्राफी का कार्य सौंपा, उन्होंने कहाँ की वर्तमान समय में ऑक्सीजन की किल्लत से हर कोई वाकिफ है तो ऐसे में हम सब जानते हैं कि पीपल का पेड़ सबसे ज्यादा ऑक्सीजन प्रदान करता है तो छात्रों को यह कार्य दिया जा रहा है कि वे अपने क्षेत्र के पीपल के पेड़ का फोटो खींचकर ग्रुप में डालें साथ ही इसे संबंधित और कोई भी प्राकृतिक दृश्य हो तो उसे भी कैमरे में कैद करें। औऱ इसे ग्रुप मे भेजे।

इसी बिच एक छात्र ने अपने त्वरित पत्रकारिता का परिचय देते हुए क्लास के सभी लोगो को आश्चर्य में डाल दिया। पत्रकारिता तृतीय वर्ष के छात्र शिवम मौर्या ने क्लास के दौरान ही पीपल के पेड़ के पास से लाइव हो गए हैं उन्होंने यह दिखाने का प्रयास किया की पत्रकार हर वक़्त अपने कार्य को करने के लिए तैयार है भले ही वह क्लास मे ही क्यों ना हो!

सर ने छात्र छात्रों को निर्देश दिया कि अगले क्लास में आने से पहले वे अपना गृह कार्य (नेचुरल फोटोग्राफी एंड वीडियोग्राफी) पूर्ण करके ग्रुप में डाले। अगले क्लास मे उसपे विशेष चर्चा होगी।

साथ ही जिन छात्र-छात्राओं को अगले क्लास में अपने पाठ्यक्रम से संबंधित प्रश्न पूछने हैं वे लीग   व्हाट्सएप ग्रुप  मे पहले से ही प्रश्न भेज दे जिसे क्लास के दौरान उनके प्रश्न पर प्रकाश डाला जा सके।

Related

JAUNPUR 6757927487505552025

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item