नमामि गंगे परियोजना पर लग रहे भ्रष्टाचार पर बारिश ने लगायी मुहर, मानक के वितरित बनी दिवार गिरी

जौनपुर। जनपद की महत्वाकांक्षी योजना नमामि गंगे तहत परियोजना के तहत सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट व अमृत योजना के तहत शहर में बिछाई जा रही पाइप लाइन का कार्य पर शुरू से ही भ्रष्टाचार के आरोप लगनक पर आज मुहर लग गयी। पचहटिया में 206 कारोड़ की लागत से बन रहे सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट की बाहर दिवार पहली बारिश में ढह गयी। दिवार गिरते ही इस योजना पर करोड़ो रूपये का भ्रष्टाचार का आरोप लगाने वाले समाजसेवी लोग इसे अपने आरोपों का प्रमाण के रूप में प्रस्तुत कर रहे है।

मालूम हो कि नगर में अमृत योजना के तहत पिछले एक वर्ष से अधिक समय से पाइप लाइन बिछाया जा रहा है तथा नामामि गंगे योजना के तहत पचहटिया में 206 करोड़ रूपये की लागत से 30 एमएलडी का सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट एसपीएमएल और पीपीएल कार्यदायी संस्था द्वारा स्थापित करने का कार्य किया जा रहा है। इस सरकार की इस मत्वाकांक्षी योजना पर शुरू से ही भ्रष्टाचार का ग्रहण लग गया। भाजपा नेता व युवा समाज सेवी गौतम गुप्ता समय समय पर इसकी लिखित शिकायत शासन प्रशासन से करने के बाद मीडिया के माध्यम से भ्रष्टाचार को उजागर करते रहते है। 

गौतम गुप्ता द्वारा बराबर लगाये जा रहे आरोपो की एक झलक बारिश के कारण दिख गयी। पचहटिया में बन रहे सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट की बाहर दिवार का एक हिस्सा ढह गया। इस मामले पर सम्बधित अधिकारियों से बात करने का प्रयास किया गया लेकिन सम्पर्क नही हो सका। 

उधर भाजपा नेता गौतम गुप्ता ने कहा कि मै तो शुरू से ही कह रहा हूं कि इस परियोजना में अधिकारयों व कार्यदायी संस्था से मिली भगत से करोड़ो रूप का गेम हुआ है। मानक का ताख पर रखकर घटिया समाग्री का प्रयोग किया जा रहा है जिसका परिणाम आज जनता के सामने आ गया है। 


Related

news 5801580698639381025

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item