50 लाख रुपये की जमीन के लिए हुई थी ठेकेदार की हत्या , 5 लाख रूपये लेकर हत्यारो ने उतरा मौत के घाट

 जौनपुर। बीते 15 अक्टूबर की सुबह बक्शा थाना क्षेत्र के मई चौराहे पर अज्ञात बदमाशों द्वारा गोलियों से छलनी करके मौत के घाट उतारे गए ठेकेदार की हत्या भाड़े के हत्यारो ने पांच लाख रूपये लेकर उन्हें मारा था , अखिलेश यादव के मौत का कारण 50 लाख रुपये कीमत की जमीन बनी।   

पुलिस के अनुसार मई चौराहे पर करीब 50 लाख रुपये कीमत के भूखंड को लेकर ठेकेदार अखिलेश यादव का लालता प्रसाद यादव से विवाद चल रहा था। न्यायालय ने अखिलेश यादव के पक्ष में फैसला दिया था। बावजूद इसके लालता प्रसाद जमीन पर कब्जा नहीं लेने दे रहे थे। इसी रंजिश को लेकर लालता प्रसाद यादव ने अखिलेश की हत्या की साजिश रची। देवेंद्र उर्फ बंदूके यादव के मार्फत मनीष यादव व धर्मेंद्र को पांच लाख रुपये की सुपारी देकर हत्या कराई। धनंजय यादव व संदीप यादव ने रेकी की थी।

बक्शा थाना क्षेत्र के बरपुर गांव निवासी ठेकेदार व सूद पर रुपये देने वाले अखिलेश यादव की गत 15 अक्टूबर को बाइक सवार बदमाशों ने उस समय गोली मारकर हत्या कर दी थी जब वे सुबह अपने बड़े भाई योगेश यादव के साथ मई चौराहा से टहल कर लौट रहे थे। गोली मारने से पहले बदमाशों ने नमस्ते कर उनसे नाम भी पूछा था। एएसपी (ग्रामीण) त्रिभुवन सिंह ने पुलिस लाइन में पत्रकारों को बताया कि मृतक के भाई बृजेश यादव की तहरीर पर अज्ञात हत्यारों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज हुआ था। 
एसपी अजय कुमार साहनी ने थानाध्यक्ष विनोद कुमार सिंह, एसओजी स्वाट प्रभारी आदेश त्यागी, सर्विलांस प्रभारी रामजन्म यादव व एसआइ विवेक तिवारी को राजफाश का जिम्मा सौंपा था। छानबीन के दौरान पुलिस ने छह आरोपितों को चिह्नित किया। इनमें से तीन बदलापुर थाना क्षेत्र के बलुआ गांव निवासी शातिर अपराधी मनीष कुमार यादव, दरियावगंज निवासी देवेंद्र कुमार उर्फ बंदूके यादव व मई गांव निवासी लालता यादव को सोमवार को गिरफ्तार कर लिया गया। इनके पास से हत्या में प्रयुक्त पिस्टल, तमंचा के अलावा दो-दो कारतूस भी बरामद हुए हैं। लालता हत्या की साजिश रचने का आरोपित है। 

Related

news 253443535515966032

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item