नौकरी दिलाने के नाम पर युवक ने एक लड़की को बना दिया बंदना ने रुख़्सती

जौनपुर।  जिले में एक ऐसा मामले सामने आया है जिसने सबको चौका दिया है । जिस लड़की का पासपोर्ट रुख़्सती नाम से जारी हुआ है वो लड़की खुद को वन्दना बताते हुए अपने ही गांव के एक युवक पर उसे विदेश ले जाकर बेचने की उद्देश्य से फ़र्जीवाड़ा कर बहला फुसला के धर्म परिवर्तन कराके रुख़्सती नाम से पासपोर्ट बनवाने का आरोप लगा रही है। 

 एसपी आफिस में चक्कर लगा रही इस लड़की का नाम वंदना है। वन्दना सरपतहां थाना क्षेत्र के मिट्टूपुर गांव की रहने वाली है। आरोप है कि गांव का ही रहने वाला नईम वंदना के साथ पढ़ाई करता था। पढ़ाई के दौरान दोनों में नजदीकियां हुई। गरीब परिवार की रहने वाली वन्दना को नईम ने विदेश में नौकरी दिलाने का सपना दिखाया। वंदना को नौकरी दिलाने के लिए उसे विदेश लेजाना था और विदेश जाने के लिए पासपोर्ट की जरूरत थी। नईम ने वन्दना का पासपोर्ट तो बनवाया लेकिन वन्दना का पासपोर्ट वन्दना के नाम से न बनवा कर रुख़्सती के नाम से बनवा दिया और उसमें नईम ने उसे अपनी पत्नी बताया है। रुख़्सती के नाम से पासपोर्ट बनवाने के लिए नईम ने कई तरह के फर्जीवाड़े किए। उसने पहले वन्दना का रुख़्सती के नाम से आजमगढ़ स्थित अपनी ससुराल के पते से जाति प्रमाण पत्र और वोटर आईडी बनवाया उसके बाद उसी आधार पर वर्ष 2015 में पासपोर्ट बनवा दिया। पासपोर्ट बनवाने के लिए वन्दना भी साथ मे गई और बकायदे मुस्लिम लिबास में पासपोर्ट आफिस में फोटो खिंचवाई। फोटो खिंचवाने के बाद जांच में सरपतहां थाने से रिपोर्ट भी लग गई कि रुख़्सती यही लड़की है और नईम की पत्नी है इतना ही नही LIU विभाग ने भी रिपोर्ट लगा दिया कि जो लड़की पासपोर्ट के लिए आवेदन की है वो रुख़्सती है और मिट्टूपुर गांव की रहने वाली है जिसके पति का नाम नईम है। 2015 से बना फर्जी पासपोर्ट का मामला ठंडे बस्ते में चल रहा था। वन्दना का कहना है कि नईम आये दिन वन्दना को विदेश ले जाने के लिए दबाव बनाता रहा लेकिन वो अपने नाम के पासपोर्ट पर विदेश जाने की जिद करती रही। 
 वन्दना का आरोप है कि जब नईम बार बार उसे साथ जाने के लिए दबाव बना रहा था तो उसने एक बार अपनी भाभी से बात कराया जिसमे नईम ने उसकी भाभी को 10 से 15 लाख रुपए महज इस लिए देने को कहा क्योकि वो वन्दना को उसके साथ विदेश भेज दे। वन्दना को डर हुआ कि इतनी बड़ी रकम वो क्यो दे रहा है कही ऐसा तो नही है कि विदेश ले जाकर उसे बेच दे। इसी डर से वन्दना ने विदेश जाने से मना कर दिया।
वन्दना का कहना है कि इसी साल उसकी शादी एक लड़के से तय हुई तो एक बार फिर नईम ने उसे साथ ले जाने की जिद किया लेकिन वन्दना जाने को तौयार नही हुई तो नईम ने उसके पासपोर्ट की फोटो उस लड़के को भेज दिया जिससे उसकी शादी होनी थी। रुख़्सती नाम से वन्दना का पासपोर्ट देख लड़के वालों ने शादी तोड़ दिया। जिसके बाद वन्दना पुलिस के पास पहुँच कर न्याय की गुहार लगा रही है और अब ये साबित करना चाहती है कि ना तो रुख़्सती है और ना ही नईम से उसकी शादी नही हुई है और पासपोर्ट भी फर्जी बना है और वो वन्दना है। फिलहाल इस मामले में पुलिस ने जांच तो शुरू कर दिया है लेकिन अभी कुछ कहने को तैयार नही है लेकिन इस मामले ने कई सवाल खड़े कर दिए है । आखिर कैसे पुलिस और L.I.U विभाग द्वारा जांच में रिपार्ट लग गई कैसे ये फर्जीवाड़ा हो गया। अगर आज वन्दना और नईम में अनबन न हुई होती तो वंदना रुख़्सती के नाम से अब तक विदेश पहुँच गई होती। सवाल खड़ा होता है कि क्या वाकई में नईम वन्दना को बेचने वाला था इन सब सवालों का जवाब पुलिस की जांच के बाद ही सामने आएगा। 

Related

news 1622399657904723297

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item