सात सौ कर्मचारियों ने 18 घंटे की कड़ी मेहनत करके शुरू कराया ट्रेनों का संचालन

जौनपुर। सुल्तानपुर-वाराणसी रेल मार्ग  पर ट्रेनों का संचालन शुरू हो गया है। श्रीकृष्ण नगर रेलवे स्टेशन से पूरब 500 मीटर दूर उदपुर घाटमपुर के पास दुर्घटना स्थल पर गुरुवार की रात 02:10 बजे ट्रैक खाली कर दिया गया। इसके लिए 700 कर्मचारी लगाए गए थे, जिन्होंने मशीनों की मदद से पटरी, बिजली के तार, टेलीफोन लाइन और पटरी के आसपास गिरी मालगाड़ी की 22 वैगन को हटा दिया। श्रीकृष्ण नगर रेलवे स्टेशन के पास 10 की स्पीड में ट्रेनों को रवाना किया जा रहा है। पहली गाड़ी के तौर पर वाराणसी से सुल्तानपुर की ओर एक मालगाड़ी रात 03:16 बजे भेजी गई थी। 

 गुरुवार की सुबह करीब 07:54 बजे बड़ा हादसा हुआ था। उदपुर घाटमपुर के पास सुल्तानपुर से मुगलसराय जा रही 92 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से मालगाड़ी की 22 वैगन पलट गई थीं। मालगाड़ी के सभी वैगन खाली थे। हादसे के चलते जौनपुर-वाराणसी रेल मार्ग ठप हो गया थी। जगह-जगह ट्रेनें खड़ी करा दी गई थीं। सुल्तानपुर-वाराणसी पैसेंजर रद्द कर दी गई थी, जबकि 16 ट्रेनों व कई मालगाड़ियों को फैजाबाद या प्रतापगढ़ रूट से भेजा गया। श्रीकृष्ण नगर रेलवे स्टेशन के पूर्वी छोर पर की सुबह बड़ा हादसा हुआ था। हालांकि इसके पीछे गलती किसकी है को लेकर अधिकारी-कर्मचारी पूरी तरह से चुप्पी साधे हुए हैं। खुद महाप्रबंधक उत्तर रेलवे आशुतोष गंगल और लखनऊ मंडल के डीआरएम सुरेश कुमार सपरा कैंप कर रहे थे। दूसरी ओर हादसे के बाद आनन-फानन में रेलवे के आसपास के जिलों में तैनात सभी कर्मचारी बुला लिए गए थे। यह कर्मचारी सुबह नौ बजे से कार्य में जुटे थे, जो रात 02:10 बजे काम को पूरा किए। इसके बाद उन्हें विशेष ट्रेन से भेजा गया। इनमें इंजीनियरिंग, मैकेनिकल, टेलीफोन, इलेक्ट्रिकल तथा सीएनडब्ल्यू के कर्मचारी शामिल थे, जो मुगलसराय, लखनऊ, वाराणसी, सुल्तानपुर आदि जनपद से बुलाए गए थे। वहीं, जीएम और डीआरएम भी भोर में चले गए। इस संबंध में स्टेशन अधीक्षक मनोज कुमार यादव ने बताया कि उदयपुर घाटमपुर में 10 किमी प्रतिघंटे की स्पीड से ट्रेनें चलाई जा रही है।

Related

news 4594917911781314286

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item