इस युवक ने दहेज़ में मिल रही कार और रूपये को ठुकराया , दम्पत्ति ने ली शपथ

 जौनपुर। सामाजिक परिवर्तन व्यक्तिगत स्तर से ही संभव है। कोई भी बदलाव तभी संभव है जब आप स्वयं उदाहरण पेश करेंगे । ऐसा ही उदाहरण पेश किया है सिरकोनी विकासखंड के खलीलपुर गांव के विमल कुमार यादव और बैरीपुर गांव की प्रियंका ने।  

विमल यादव बलिया डिग्री कालेज में राजनीति विज्ञान विषय से असिस्टेंट प्रोफेसर हैं और प्रियंका जौनपुर में प्राथमिक स्कूल में सहायक अध्यापिका है । बीते 25 नवम्बर को दोनों की शादी सम्पन्न हुआ। विमल ने अपने विवाह संस्कार को एक अनूठे ढंग से सम्पन्न करवाया। विमल ने सदियों से प्रचलित दहेज प्रथा तथा आडम्बरपूर्ण विवाह की कड़ी को तोड़ते हुए एक नया संदेश देने की कोशिश की है। इनका मानना है कि आज हम स्वयं को आधुनिक मानते हैं लेकिन दहेज जैसी कुप्रथा आज भी हमारे समाज में व्याप्त है। 

विमल ने तिलक के नाम पर वसूली जा रही मोटी रकम की आलोचना करते हुए एक भी रुपया या कार लेने से मना कर दिया। जबकि लड़की के परिवार वाले अपनी ख़ुशी से एक कार और दहेज़ के नाम पर मोटी रकम देने को तैयार थे। विमल कहते हैं कि आचरण के स्तर पर हम सिर्फ साक्षर हो पाए हैं शिक्षित नहीं। शिक्षा से सामाजिक बदलाव होता है लेकिन हम दहेज जैसी घृणित और अन्य कुप्रथाओं से आज भी घिरे हुए हैं।

विमल का मानना है कि हमें पर्यावरण संरक्षण के लिए चलाए गए आंदोलनों से सीख लेने की जरूरत है। इसलिए पर्यावरण संरक्षण की दिशा में उन्होंने एक महत्वपूर्ण पहल की। उन्होंने अपनी ग्राम पंचायत के पंचायत भवन पर पौधरोपण कर कहा कि प्रत्येक नव दंपत्ति को नव जीवन की शुरुआत एक पौधा लगाकर करना चाहिए। विमल और प्रियंका ने संविधान की शपथ ले कर एक दूसरे को पति-पत्नी के रूप में स्वीकार किया। पूर्वांचल विश्वविद्यालय के राष्ट्रीय सेवा योजना के समन्वयक राकेश कुमार यादव ने शपथ दिलाया। इनका मानना है संवैधानिक मूल्यों के जरिए ही भारतीय समाज को आडम्बरविहीन और समतामूलक बनाया जा सकता है। विवाह में परिवारीजन , मित्र तथा अन्य गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

Related

JAUNPUR 1790248830880824285

एक टिप्पणी भेजें

  1. बहुत खूब।एक उदाहरण प्रस्तुत किया है।

    जवाब देंहटाएं
  2. ज़रूरत तो यही है समाज को

    जवाब देंहटाएं
  3. हमें गर्व है विमल भैया आपपर 💐💐💐🙏

    जवाब देंहटाएं
  4. आज यह सुनकर मुझे आनन्द की अनुभूति हुई।दहेज एक कुष्ठ रोग है।जिसे जड़ से समाप्त करने के लिए ऐसे नव युवक की जरूरत है।जिसने समाज को एक सन्देश भी दिया है।हम ऐसे लोगों को एक माला पहनाकर सम्मानित करना चाहते हैं।

    जवाब देंहटाएं
  5. अति सुन्दर पहल l हमें आनेवाली पीढ़ी को कुछ सीख देना चाहिए, यह एक अच्छा उदाहरण है और पर्यावरण को सुरक्षित करना हम सभी की जिम्मेदारी हैl
    🌲पर्यावरण बचावें -जीवन बचाये🌲

    जवाब देंहटाएं
  6. शानदार , जबरदस्त जिंदाबाद

    जवाब देंहटाएं
  7. Agar ladka kisi gareeb ldki se shaadi krke ye krta tab to baat maan ne waali thi ya ye bolta ki ldki govt. Job se jo bhi salary h ldki ya uske ghar walo ko hi milegi vo usko use nhi krega tab acchi baat hoti..

    जवाब देंहटाएं

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item