55 वॉं निरंकारी संत समागम 11, 12 एवं 13 फरवरी 2022 को

 जौनपुर : निरंकारी सतगुरु माता सुदीक्षा जी महाराज की पावन अध्यक्षता में महाराष्ट्र का 55 वॉं निरंकारी संत समागम दिनांक 11, 12 एवं 13 फरवरी 2022 को वर्चुअल रूप में आयोजित किया जाएगा। जिसका भरपूर आनंद विश्वभर के सभी श्रद्धालु भक्त, घर बैठे ऑनलाइन माध्यम द्वारा प्राप्त करेंगे।

    यह जानकारी स्थानीय मीडिया सहायक उदय नारायण जायसवाल ने दिया। उन्होंने आगे बताया की प्रतिवर्ष नववर्ष के आगमन से ही संपूर्ण महाराष्ट्र के साथ- साथ विश्वभर के समस्त श्रद्धालुओं को इस भक्ति, प्रेम एवं अलौकिक आनंद की अनुभूति प्रदान कराने वाले समागम की प्रतीक्षा रहती है, जिसमें विभिन्न संस्कृतियों एवं सभ्यताओं का अद्भुत संगम देखने को मिलता है जो अपनी बहुरंगी छठा द्वारा अनेकता में एकता का चित्रण प्रदर्शित करते हुए विश्वबंधुत्व की भावना को दर्शाता है।
    इस वर्ष महाराष्ट्र के संपूर्ण समागम का सीधा प्रसारण पहली बार मिशन की वेबसाइट पर सांय 5:00 बजे से रात्रि 9:30 बजे तक एवं साधना टी.वी चैनल पर सांय 6:00 बजे से रात्रि 9:30 बजे  प्रसारित किया जाएगा। इस सूचना से समस्त संगत में हर्षोल्लास का वातावरण है। इस वर्ष समागम का विषय "विश्वास, भक्ति आनंद" है। भक्ति का तात्पर्य है- जब हम इस निरंकार की पहचान करके जीवन में इसे अपना आधार बना लेते हैं और इससे इकमिक हो जाते हैं तब जीवन वास्तविक रूप में भक्तिमय हो जाता है। उसके पश्चात विश्वास, भक्ति को और सुदृढ़ बनाता है तदोपरांत ऐसी अवस्था जीवन में आ जाती है  जब आनंद सुख की  अनुभूति स्वत: ही प्राप्त हो जाती है। फिर सभी में इस एक प्रभु का ही दर्शन होता है और सबके लिए हृदय से केवल कल्याण की भावना उत्पन्न होती है अतः हम यह कह सकते हैं कि विश्वास, भक्ति, आनंद वास्तविक रूप में  अध्यात्मिकता के तीनों आयाम है जिनको अपनाकर मनुष्य स्वयं का तो कल्याण करता ही है अपितु औरों के लिए भी प्रेरणा का  स्रोत बनता है। यही इस समागम का उद्देश्य है।
   
  समागम के मुख्य कार्यक्रम
समागम का शुभारंभ 11 फरवरी 2022 (शुक्रवार) को 5:00 बजे से किया जाएगा जिसमें सद्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज मानवता के नाम संदेश प्रेषित करेंगे। उसके पश्चात समागम का आरंभ होगा। समागम के दूसरे दिन 12 फरवरी 2022 (शनिवार) को सेवा दल की रैली दोपहर 12:00 बजे से 2:00 बजे तक किया जाएगा रैली का समापन सद्गुरु माता जी के आशीष वचनों द्वारा संपन्न होगा। उसके उपरांत 5:00 बजे से सत्संग कार्यक्रम का आरंभ होगा। समागम के तीसरे दिन 13 फरवरी 2022 (रविवार) को शाम 5:00 बजे से सत्संग का कार्यक्रम आरंभ होगा जिसमें गीतों, कविताओं एवं विचारों को प्रस्तुत किया जाएगा और इसके अतिरिक्त "एक बहुभाषीय कवि सम्मेलन" का आयोजन किया जाएगा जो तीसरे दिन का मुख्य आकर्षण होगा जिसमें "श्रद्धा भक्ति विश्वास रहे, मन में आनंद का वास रहे"- इस विषय पर विश्व भर के कवि सज्जन, विभिन्न भाषाओं में अपने शुभ भावो को व्यक्त करेंगे और अंत में सतगुरु माता जी के दिव्य प्रवचनो द्वारा समागम का समापन होगा।
 


Related

news 6999105659656767443

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item