आपदा में रोवर्स- रेंजर्स की अहम भूमिका

 जौनपुर। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय शिक्षकों के लिए परिसर में शुक्रवार को रोवर्स- रेंजर्स लीडर बेसिक कोर्स प्रशिक्षण शिविर की शुरुआत हुई। 

शिविर के उदघाटन सत्र में बतौर मुख्य अतिथि विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो. निर्मला एस मौर्य ने कहा कि हम कितने भी बड़े हो जाएं हमारे अंदर एक बच्चे का भाव बने रहना चाहिए। व्यक्ति को जीवन के हर पल का आनंद लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि आपदा के समय यहीं रोवर्स- रेंजर्स जैसी संस्थाएं काम आती हैं जिससे संकट का समाधान होता है। इस प्रशिक्षण के माध्यम से प्रतिभागियों में लीडर का भाव जागृत होगा। उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति पूर्ण नहीं होता जिस दिन व्यक्ति पूर्ण समझ लिया उसी दिन उसका विकास रुक जाता है। प्रशिक्षण एलओसी बेबी खुशनुमा ने कहा कि प्रशिक्षण के माध्यम से शिक्षकों में नया दृष्टिकोण पैदा होगा। इस प्रशिक्षण के बाद शिक्षक अपने विद्यार्थियों में नई ऊर्जा का संचार होगा। इसी क्रम में सहायक कुलसचिव श्रीमती बबिता सिंह ने कहा कि जीवन में मनुष्य हर समय कुछ न कुछ सीखता रहता है।
 रोवर्स रेंजर्स के संयोजक डॉ जगदेव ने अतिथियों का स्वागत एवं शिविर की रूपरेखा प्रस्तुत की। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय का रोवर्स रेंजर्स अपनी गतिविधियों के कारण प्रदेश में प्रथम स्थान पर है। रोवर्स की कैडेट जया सिंह ने स्वागत गीत प्रस्तुत किया। संचालन डॉ अजय कुमार दुबे एवं धन्यवाद ज्ञापन डॉ अशोक कुमार,ने किया।इस अवसर पर डॉ. दिग्विजय सिंह राठौर, मुहम्मद सादिक, डॉ सुनील कुमार,डॉ पंकज सिंह, डॉ विनय वर्मा,डॉ मनोज तिवारी, डॉ राजेन्द्र कुमार सिंह, डॉ श्याम सुंदर उपाध्याय,डॉ आलोक दास, डॉ अमरजीत, डॉ नीता सिंह, डॉ योगेंद्र प्रताप सिंह,डॉ प्रभात कुमार यादव, कंचन यादव,डॉ सुषमा मिश्रा,डॉ विनिता श्रीवास्तव समेत विभिन्न जनपदों के शिक्षक उपस्थित रहे।

Related

news 1403116110631093955

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item