कैरियर बनाने वाले छात्रों के लिए फरिश्ते का काम कर रहे हैं मुजम्मिल

 जौनपुर। कौन कहता है कि आसमान में सुराख नहीं हो सकता, एक पत्थर ता ेतबियत से उछालोे यारो। कुछ ऐसा ही कर दिखाया है नगर के सरायलता मल्हनी पड़ाव निवासी मोहम्मद शकील के 29 वर्षीय डॉ.मोहम्मद मुजम्मिल ने जो अपनी पढ़ाई करने के बाद न सिर्फ उन युवाओं बच्चों के लिए प्रेरणा का रुाोत बने हैं जो पढ़ लिखकर कुछ कर गुजरना चाहते हैं। 

डॉ.मोहम्मद मुजम्मिल ने न सिर्फ पीजीटी वाणिज्य शिक्षक के रूप में कार्य करते हुए डाक्टरेट की डिग्री हासिल की बल्कि उन हजारों विद्यार्थियों के लिए प्रेरणा रुाोत बनते जा रहे हैं जो शिक्षा के जरिए न सिर्फ अपना कैरियर बनाने के लिए जुटे हैं बल्कि समाज व देश के लिए कुछ करने का जज्बा रखते हैं। इसी को पूरा करने के लिए रविवार को नगर के होटल के हॉल में शेयर केयर वेलफेयर ट्रस्ट संस्था के अध्यक्ष डॉ. मोहम्मद मुजम्मिल ने अपनी लिखी पुस्तक (इंपॉसिबल कुछ भी नहीं) का विमोचन अतिथियों द्वारा कराया। जिसका उद्देश्य समाज में शिक्षा को बढ़ावा देना है और गरीब बच्चों की मदद करना है। मोहम्मद मुजम्मिल को समाज में किए गए उत्कृष्ट कार्य को देखते हुए मैजिक बुक ऑफ रिकॉर्ड की तरफ से डॉक्टरेट की उपाधि से भी सम्मानित किया गया है। उन्होंनंे बताया कि यह पुस्तक जीवन को बदलने का एक छोटा सा प्रयास है जो दिखाती है कि छोटे छोटे कदम , महान और संभव उपलब्धियों को जन्म दे सकते हैं और इस तथ्य पर प्रकाश डालती है कि इंपॉसिबल कुछ भी नहीं है। डॉ.मुजम्मिल ने बताया कि वे उन बच्चों की मदद कोचिंग के जरिए करते हैं जो आईएएस, आईपीएस, डॉक्टर, इंजीनियर व अन्य विषयों के साथ अपना कैरियर बनाने के लिए संघर्ष कर रहे हैँ। उनके पिता सेवानिवृत्त प्राइमरी के अध्यापक हैं और माता शहनाज जमाल गृहणी के रूप में बेटे को आर्शीवाद देती रही हैं। उनके एक भाई अ ौर एक बहन भी है जो मुजम्मिल को समाज सेवा के लिए प्रोत्साहन देते रहते हैँ। सामाजिक कार्यों व गरीब बेसहारों की मदद के लिए मुजम्मिल एक वेलफेयर ट्रस्ट भी चलाते हैं जिसके माध्यम से वे कई गरीब लोगों की इलाज, शादी विवाह, शिक्षा व अन्य कार्यों को अंजाम देते हैं। साथ ही उन लोगांे को परामर्श अपने उदबोधन से देते हैं जिससे उनके कैरियर को नया आयाम मिल सके। एक मध्यम वर्गीय परिवार से आने के बावजूद मात्र 29 वर्ष की आयु में डॉ.मुजम्मिल ने वो सब कुछ कर दिखाया जो हर युवा का सपना होता है। यही वजह थी कि उनके सामाज निर्माण के लिए किये गये कार्य को देखते हुए मैजिक और आर्ट युनिवर्सिटी की तरफ से ऑनरेरी डॅक्टरेट पुरस्कार और नेशनल एंटी हरेसमेंट फाउंडेशन की ओर से भारत भूषण अवार्ड से भी सम्मानित किया गया। इस अवसर पर सेंट जोसेफ मैनेजमेंट ऑफ ग्रुप के मैनेजिंग डायरेक्टर डॉक्टर नोमान खान ने कहा कि ऐसे युवाओं को प्रोत्साहन करने की जरूरत है जो न सिर्फ समाज व देश के योगदान में अपनी महत्तवपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। इस मौके पर आबिद खान, वसीम खान, विपुल तिवारी, आदिब कमाल, मेराज अंसारी, मोहसिन, समर, रमन, राजन मिश्रा, अमित गुप्ता, सै.हसनैन कमर दीपू सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

Related

news 9191870650653257526

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item