कोरोना शुरू होते ही गोद लिये दिव्यांग दम्पत्ति को युवा समाजसेवी ने फिर दिया आर्थिक सहयोग

 जौनपुर। मार्च 2020 में कोरोना के रूप में देश में आयी वैश्विक महामारी के चलते लगे लॉक डाउन में नेत्रविहीन पति और पैर से लाचार पत्नी की मदद के लिये आगे आये ऋषि यादव नामक युवा समाजसेवी का उस दम्पत्ति के प्रति सेवा भाव निरन्तर जारी है। उस समय से ही राशन, सब्जी, कपड़े के साथ आर्थिक मदद देने वाले ऋषि यादव ने बुधवार को भी आर्थिक सहयोग किया।

 इस बाबत पूछे जाने पर श्री यादव ने बताया कि वह मोहिउद्दीनपुर गांव के निवासी हैं जो गांव में ही समाजवादी कुटिया के माध्यम से गांव सहित आस-पास के गांवों के आर्थिक रूप से कमजोर परिवार के बच्चों को शिक्षा-दीक्षा देने का कार्य मार्च 2020 से निरन्तर करते चले आ रहे हैं। इतना ही नहीं, दूध, फल, मिष्ठान, बिस्किट आदि भी बच्चों को देते रहते हैं। इसी क्रम में मार्च 2020 में जब पूरा देश कोरोना जैसी महामारी से जूझ रहा था जिसके चलते पूरे देश में लाक डाउन लगा था तो उसी समय से गजना गांव के दिव्यांग मुस्लिम दम्पत्ति जो आर्थिक संकट से जूझ रहा था, के लिये वह आगे आ गये। 

मालूम हो कि गजना निवासी इम्तियाज अहमद आंख से लाचार हैं तो उनकी पत्नी पैर से लाचार है जिसके चलते दोनों के समक्ष बहुत बड़ा पहाड़ खड़ा हो गया। ऐसे में समाजवादी कुटिया के संस्थापक ऋषि यादव ने उस परिवार को गोद ले लिया। इसके साथ ही उसी समय से राशन, सब्जी, दूध, फल, मिष्ठान, कपड़े आदि के साथ आर्थिक मदद देना शुरू करने वाले श्री यादव ने बुधवार को भी 10 हजार रूपये का सहयोग प्रदान किया। कुल मिलाकर समाजवादी कुटिया के संचालक श्री यादव उस परिवार का पूरा खर्च उठा रहे हैं। इस बाबत पूछे जाने पर युवा समाजसेवी ऋषि यादव ने कहा कि मार्च 2020 से लगातार सेवा कर रहे इस परिवार के लिये वह आगे भी खड़े रहेंगे।

Related

news 4994199409748264831

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item