जानिए एमएलसी चुनाव के कहा बनाया है बूथ , किसी पर कितने मतदाता करेंगे वोट

जौनपुर। जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में स्थानीय प्राधिकारी निर्वाचन 2022 के सम्बन्ध में राजनैतिक दल के प्रतिनिधियों के साथ बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी ने बताया कि मतदान हेतु व्यवस्था पूर्ण कर ली गयी है। जौनपुर स्थानीय प्राधिकारी निर्वाचन-2022 का मतदान 09 अप्रैल 2022 को प्रातः 8.00 बजे से सायं 04.00 बजे तक संबंधित कुल 22 मतदेय स्थलो पर सम्पन्न होना है तथा मतगणना 12 अप्रैल 2022 को विकास भवन भूतल, जौनपुर में प्रातः 08.00 बजे से प्रस्तावित है। 

 जौनपुर स्थानीय प्राधिकारी निर्वाचन क्षेत्र के मतदेय स्थल में क्षेत्र पंचायत कार्यालय सुईथाकला में मतदाताओं की संख्या 172, तहसील कार्यालय शाहगंज में 310, क्षेत्र पंचायत कार्यालय खुटहन में 204, तहसील कार्यालय बदलापुर में 215, क्षेत्र पंचायत कार्यालय महाराजगंज में 169, क्षेत्र पंचायत कार्यालय बक्सा में 200, क्षेत्र पंचायत कार्यालय करंजकला में 204, न्यायालय उप जिलाधिकारी सदर में 141, क्षेत्र पंचायत कार्यालय धर्मापुर में 84, क्षेत्र पंचायत कार्यालय मुफ्तीगंज में 116, तहसील कार्यालय केराकत में 175, क्षेत्र पंचायत कार्यालय डोभी में 153, क्षेत्र पंचायत कार्यालय जलालपुर में 144, क्षेत्र पंचायत कार्यालय सिरकोनी में 151, तहसील कार्यालय मड़ियाहूं में 220, क्षेत्र पंचायत कार्यालय सिकरारा में 169, तहसील कार्यालय मछलीशहर में 222, क्षेत्र पंचायत कार्यालय में सुजानगंज में 203, नगर पालिका परिषद कार्यालय मुंगराबादशाहपुर में 207, क्षेत्र पंचायत कार्यालय बरसठी में 186, क्षेत्र पंचायत कार्यालय रामनगर में 205, क्षेत्र पंचायत कार्यालय रामपुर में 181 कुल मतदाता 4031 है। अपर जिलाधिकारी रामप्रकाश ने अवगत कराया कि राज्य की विधान परिषदों के निर्वाचनों में मतों को दर्ज करने के लिए अनुदेश दिए गए है मत देने के लिए मतपत्र के साथ रिटर्निंग आफिसर द्वारा दिए गए केवल बैंगनी स्केच पेन, जो अबको मतपत्र के साथ दिया जाएगा, का प्रयोग करेंगे। किसी अन्य पेन, पेंसिल, बॉल प्वाइंट पेन या कोई अन्य चिन्ह लगाने वाले उपकरण का प्रयोग नहीं करेंगे, क्योंकि इससे मतपत्र अमान्य हो जाएगा। आपके द्वारा प्रथम अधिमान के रूप में चुने गए अभ्यर्थी के नाम के सामने दिए गए अधिमान क्रम वाले चिन्हित स्तंभ में अंक 1 को लिखकर मतदान करें। इस अंक 1 को केवल एक अभ्यर्थी के नाम के सामने लगाया जाएगा। यदि निर्वाचित किए जाने वाले अभ्यर्थियों की संख्या एक से अधिक हो, तो भी केवल एक अभ्यर्थी के नाम के सामने अंक 1 लिखा जाएगा। अधिमान उतने ही हो सकते हैं, जितने निर्वाचन लड़ रहे अभ्यर्थी है, चाहे निर्वाचित किए जाने वाले अभ्यर्थियों की संख्या कुछ भी हो उदाहरण के लिए, यदि निर्वाचन लड़ रहे अभ्यर्थियों की संख्या 5 है और केवल 2 को निर्वाचित किया जाना है तो आप अपने अधिमान के क्रम में अपनी पसंद के अभ्यर्थियों के सामने 1 से 5 तक अधिमानों को चिन्हित कर सकते हैं। शेष अभ्यर्थियों के लिए अपने अधिमान के क्रम में बाद के अंक 2, 3, 4 आदि लिखकर ऐसे अभ्यर्थियों के नाम के सामने प्रदान किए अधिमान का क्रम चिन्हित स्तंभ में अंक द्वारा दर्शाकर अपने आगे के अधिमान को दर्शाएं। किसी अभ्यर्थी के नाम के सामने केवल एक अंक दर्शाया जाना सुनिश्चित करें और यह भी सुनिश्चित करें कि एक ही अंक एक से अधिक अभ्यथियों के नाम के सामने नहीं लिखा जाए। अधिमान को केवल अंको अर्थात् 1, 2, 3 आदि में दर्शाया जाएगा तथा शब्दों अर्थात् एक, दो, तीन आदि में नहीं दर्शाया जाएगा। अंको को भारतीय अंकों के अंतरराष्ट्रीय रूप यथा 1, 2, 3 आदि या रोमन रूप या संविधान की आठवीं अनुसूची में मान्यता प्राप्त किसी भारतीय भाषा में प्रयुक्त रूप में चिन्हित किया जाएगा। मतपत्र पर हस्ताक्षर या आद्यक्षर नहीं करें या अपना नाम या कोई शब्द नहीं लिखें साथ ही, अपने अंगूठे का निशान नहीं लगाएं। इनसे आपका मतपत्र अमान्य हो जाएगा। अपने अधिमान को दर्शाने के लिए सही या क्रॉस का चिन्ह लगाना पर्याप्त नहीं है। ऐसे मतपत्र को अस्वीकार किया जाएगा। अपने अधिमानों को उपर्युक्तानुसार केवल अंको 1, 2, 3 आदि में दर्शाएं। अपने मत को विधिमान्य बनाने के लिए, यह आवश्यक है कि आप किसी एक अभ्यर्थी के सामने अंक 1 लिखकर अपना प्रथम अधिमान दर्शाए। अन्य अधिमान केवल ऐच्छिक हैं, अर्थात् आप द्वितीय और उसके आगे के अधिमानों को दर्शा सकते हैं या नहीं भी दर्शा सकते हैं।

Related

news 7024364557931927556

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item