प्रधानाचार्य पद का प्रभार देने में जमकर बरती जाती है अनियमितता

 जौनपुर। प्रबन्धकों की मनमानी और जिला विद्याल निरीक्षक कार्यालयों की मिली भगत से मंडल के सभी जनपदों में प्रधानाचार्य पद का प्रभार देने में न केवल अनियमितता बरती जाती है, बल्कि शिक्षक साथियों की वरिष्ठता का उल्लंघन भी पूर्व में किया जाता रहा है,लेकिन उ0प्र0मा0शि0संघ (सेवारत ) इस बार ऐसा नहीं होने देगा।  

उक्त बातें कहते हुए उ0प्र0मा0शि0संघ (सेवारत )के प्रदेश अध्यक्ष रमेश सिंह ने बताया कि पूर्व की भांति इस बार भी 31/03/2022 को वाराणसी मंडल के जनपदों में लगभग दो दर्जन से भी अधिक प्रधानाचार्य अवकाश ग्रहण कर चुके हैं ।विगत में देखा गया था कि प्रबंधन और जि0वि0निरीक्षक कार्यालय की मिली भगत से प्रधानाचार्य पद का प्रभार देने में वरिष्ठता का उल्लंघन किया गया जिसने न केवल अनावश्यक विवाद पैदा किया अपितु विद्यालयों का शैक्षिक वातावरण भी प्रभावित हुआ। इस तरह की पुनरावृत्ति न हो सके ,इसके लिए संगठन की मांग पर विगत में संयुक्त शिक्षा निदेशक, वाराणसी मंडल वाराणसी द्वारा मंडल के जि0वि0निरीक्षकों को पत्र निर्गत किया जा चुका है।इसी कड़ी में जि0वि0निरीक्षक जौनपुर द्वारा भी स्पस्ट आदेश निर्गत किया जा चुका है कि विद्यालय प्रबन्धन द्वारा प्रधानाचार्य पद का प्रभार देने में वरिष्ठता का उल्लंघन कदापि न किया जाय।इतने स्पस्ट आदेश के बावजूद भी यदि कहीं किसी विद्यालय में प्रबन्धन द्वारा वरिष्ठता का उल्लंघन किया जाता है,अथवा जि0वि0निरीक्षक कार्यालय द्वारा किसी कनिष्ठ शिक्षक का हस्ताक्षर प्रमाणित कर दिया जाता है तो , सेवारत संगठन इसके खिलाफ निर्णायक संघर्ष के लिए विवश होगा, जिसका सम्पूर्ण उत्तरदायित्व सम्बन्धितों का होगा।इसी क्रम में रमेश सिंह ने सभी जिलों के माध्यमिक शिक्षक संघ (सेवारत) के सभी पदाधिकारियों को भी निर्देशित किया है कि वरिष्ठता उल्लंघन के मामलों में वे जि0वि0निरीक्षक कार्यालयों पर दबाव बनाते हुए पीड़ित शिक्षक साथियों को न्याय दिलाएं।

Related

news 920019028576728630

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item