आठ एसोसिएट बने प्रोफेसर, 48 कर्मियों को किया गया नियमित

जौनपुर। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के कुलपति सभागार में मंगलवार को आयोजित कार्यपरिषद की बैठक में दो कार्यवाही पर मुहर लगी है। परिसर के आठ एसोसिएट प्रोफेसर को प्रोन्नत करके प्रोफेसर बनाया गया है तो 48 कर्मियों को नियमित पद पर समायोजित किया गया है। विश्वविद्यालय प्रशासन की कार्यशैली से आक्रोश है। 

 कुलपति प्रोफ़ेसर निर्मला एस मौर्या की अध्यक्षता में कार्य परिषद की बैठक हुई। इसमें विभिन्न संस्थान के शिक्षकों को कैरियर उन्नति योजना के तहत प्रोफेसर बनाया गया। उमानाथ सिंह इंजीनियरिग संस्थान के मैकेनिकल विभाग शिक्षक डाक्टर संदीप कुमार सिंह, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिग विभाग शिक्षक डाक्टर रजनीश भास्कर, इलेक्ट्रानिक एंड कम्यूनिकेशन विभाग शिक्षक डाक्टर रवि प्रकाश, एमसीए संस्थान के शिक्षक डाक्टर सुरजीत कुमार यादव, डाक्टर सौरभ पाल, डाक्टर नूपुर गोयल, प्रबंध अध्ययन संकाय शिक्षक डाक्टर मुराद अली, विज्ञान संकाय बायोटेक्नोलाजी विभाग शिक्षक डाक्टर प्रदीप कुमार प्रोफेसर बन गए हैं। वहीं दूसरी तरफ वर्ष 2001 के अधिसंख्य पद के 48 कर्मियों को नियमित पद पर समायोजित किया गया है। वर्ष 1991 के अधिसंख्य पद के 109 वरिष्ठ कर्मचारियों को नियमित नहीं किया गया, जबकि 2018 में इसी कार्य परिषद ने रिक्त पदों पर 109 कर्मचारियों को नियमित पद पर समायोजित करने का फैसला लिया था। वित्त अधिकारी संजय कुमार राय, प्रो. चंद्र मोहनी चतुर्वेदी, प्रो. महक सिंह, प्रोफेसर अविनाश, प्रो.संतोष कुमार, प्रो. राम नारायण, डा. ओपी चौधरी, डा. भवानी वर्मा, डा. अशोक चक्रवर्ती, डाक्टर सुरेश पाठक आदि उपस्थित रहे। संचालन कुलसचिव महेंद्र कुमार ने किया। विश्वविद्यालय प्रशासन ने 2018 के फैसले की अनदेखी किया है। संस्थान में कर्मचारियों को आपस में लड़ाने का काम किया जा रहा है। यह संस्था के हित में नहीं है।

Related

news 7711003671583900

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item