धनंजय सिंह,ललई यादव व अन्य के खिलाफ आरोप तय

 जौनपुर। 6 नवंबर 2017 को हुए खुटहन उपद्रव मामले में पूर्व सांसद धनंजय सिंह, शैलेंद्र यादव ललई व अन्य आरोपितों के खिलाफ लूट हत्या के प्रयास, आगजनी व अन्य धाराओं में अपर सत्र न्यायाधीश एमपी एमएलए कोर्ट में आरोप तय हुआ। शासकीय अधिवक्ता लाल बहादुर पाल के प्रार्थना पत्र पर कोर्ट ने पूर्व सांसद कुंवर हरिवंश सिंह को कोर्ट ने गवाही के लिए 7 जून को तलब किया है। 

 प्रतापगढ़ के पूर्व सांसद कुंवर हरिवंश सिंह ने शैलेंद्र यादव ललई, धनंजय, बृजेश सिंह प्रिंसू समेत 35 के खिलाफ 6 नवंबर 2017 को एफ आई आर दर्ज कराया था कि ब्लाक प्रमुख सरजू देवी यादव के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर प्रशासन द्वारा 6 नवंबर 2017 को 11:00 बजे खुटहन ब्लाक के परिसर में प्रस्ताव पर परिचर्चा होना था। वादी अपनी बहू नीलम( ब्लाक प्रमुख) के साथ वहां जा रहा था। खुटहन ब्लाक के समीप जौकाबाद गांव 11:00 बजे पहुंचा तभी सभी आरोपित 400 से 500 लोगों के साथ वादी की गाड़ी के सामने आ गए। ललई यादव के ललकारने पर धनंजय,प्रिंसू व नवीन सिंह जान से मारने की नियत से वादी पर फायरिंग करने लगे वादी जान बचाकर गाड़ी में छुप गया। आरोपितों ने वादी की गाड़ी क्षतिग्रस्त कर दिया। वादी दूसरी गाड़ी से ब्लॉक की तरफ भागा। इस गाड़ी पर भी आरोपियों ने अंधाधुंध फायरिंग किया। पहली गाड़ी को जला कर 15-16 लाख रुपए का नुकसान कर दिया।अन्य वाहन भी क्षतिग्रस्त कर दिया। क्षेत्र पंचायत सदस्यों को भी जान से मारने की नियत से मतदान न करने देने के उद्देश्य से आतंकित कर गाड़ियों से खींचने लगे जिससे वे लोग मतदान स्थल पर न पहुंच सके।पंचायत सदस्यों में कुछ महिला सदस्यों के गले से चैन व कान की बालियां भी लूट लिए।कई लोगों को चोटे आई। मामले में पुलिस ने अपराध पाते हुए चार्जशीट दाखिल की।धनंजय व अन्य आरोपितों का कहना था कि राजनैतिक प्रतिद्वंद्विता के कारण रंजिशन फर्जी प्राथमिकी दर्ज कराई गई।घटनास्थल से विवेचना में खोखा कारतूस भी बरामद नहीं हुआ।इस तरह की कोई घटना ही नहीं घटी।कोर्ट ने दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद आरोपितों का आरोप मुक्ति प्रार्थना पत्र निरस्त कर दिया था।

Related

news 4166319882148448291

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item