हिंदुस्तान लाखों धागों से मिली हुई इज्जत एक की चादर है:मौलाना कल्बे रूशैद

 जौनपुर। विश्व विख्यात इस्लामिक स्कॉलर एवं मौलाना डॉ.सैयद कल्बे रूशैद रिजवी ने रविवार को बाजार भुआ मुहल्ले में मजलिस को खेताब करने के बाद पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि हमारा देश संविधान से चलता है और संविधान से ही चलता रहेगा मोमोक्रेसी से नहीं चलेगा। देश हमारा जब आजाद हुआ था तो बाबा साहब भीमराव अंबेडकर ने भारत का संविधान लिखकर ये बात दुनिया को बता दी थी कि हमारा देश सेकुलर देश है यहां सभी धर्म और मजहब के मानने वाले लोग आजादी के साथ अपने धर्मों के प्रति समर्पित रहकर समाज व देश की सेवा करते रहेगें। आज जिस तरह से मुल्क के हालात राजनीति के चलते खराब हो रहे हैं वोह चिंता का विषय है पर हमें अपने देश के संविधान व न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है।  

इससे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हो या फिर गृह मंत्री अमित शाह हों या फिर आम इंसान हों सभी न्यायालय का सम्मान करते हैं। जब कोई भी सरकारें संविधान से हटकर कार्य करती हैं तो लोग न्यायालय की शरण में जाते हैं और हमारे देश क ी न्यायपालिका ने हमेशा संविधान को सामने रखकर अपना फैसला सुनाया है इसलिए आज भी लोगों को न्यायपालिका पर भरोसा है। मौलाना डॉ.कल्बे रूशैद ने कहा कि हमारा देश लोकतांत्रिक व्यवस्था से चलता है न कि मोमोक्रेसी से। हिंदुस्तान लाखों धागों से मिली हुई इज्जत की चादर है जो हम सभी के सरों की हिफाजत करता चला आ रहा है। यदि लोगों ने अपनी अपनी मर्जी का एक एक धागे निकालने शुरू कर दिये तो उन्हें धागा तो मिल जायेगा पर चादर तार तार हो जायेगी इसलिए हुकूमत व देश के नागरिकों को चाहिए कि अपनी अपनी मर्जी के मुताबिक फैसले न लें बल्कि कानून व संविधान जो कहता हो उसको मानें तभी हमारा देश विश्व पटल पर अपनी अलग पहचान बनाये रखेगा। उन्होंने कहा कि मजहब सियासत में वोह एनेस्थीसिया है जिसे सियासत कभी न कभी लगाती रहती है। अगर मजहब का इंजेक्शन सियासत के लोग अपने मानने वालों को न लगाये तो लोग उनसे पूछेगें कि तुम्हारे वालों का क्या हुआ, पैसों का क्या हुआ ये सभी राजनीतिक दलों का हाल है वर्तमान राजनीति में। वे अपने वादों को भूल जाते है तो इस तरफ लोगों का दिमाग डायवर्ट कर देते हैं। वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे पर उन्होंने कहा कि जो हो रहा है उसपर नजर बनाये रखें किसी के बहकावे में न आयें मुल्क में अमन शांति बनाये रखना हमसबका फर्ज है। हम हिंदुस्तानी हैं और हिंदुस्तानी मरते दम तक रहेगें। ऐसे में राजनीतिक शुगूफों से बचने की जरूरत है पर उसपे नजर बनाये रखना हमारा फर्ज है। वर्तमान समय में हर तीन महीने पर कोई न कोई एक एजेंडा बाहर निकलता है और उसपर बहस शुरू होती है पर हमें उस वक्त तक इसपर निगाह बनाये रखने की जरूरत है जबतक हमें इससे कोई नुकसान न उठाना पड़े।

Related

जौनपुर 3475547505274089961

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item