कैदियों का अकेलापन व तनाव दूर करने का सशक्त माध्यम है योगः डा. हेमन्त

 जौनपुर। जिला कारागार में बीते 23 मई से बंदियों के मानसिक एवं स्वास्थ्य सम्बन्धी विकारों को दूर करने तथा उनके अंदर सकारात्मक विचार पैदा करने के उद्देश्य युवा भारत और पतंजलि योग समिति के तत्वावधान में सात दिवसीय योग प्रशिक्षण शिविर का शुभारंभ किया गया था जिसका रविवार को समापन हो गया। शिविर में योग प्रशिक्षक की भूमिका युवा भारत के जिला प्रभारी डा. हेमंत सहित अन्य प्रशिक्षकगण डा. ध्रुवराज व महेंद्र कुमार रहे। योग गुरूओं ने कैदियों को शारीरिक स्वास्थ्य के लिए प्राणायाम, योगिग जोगिंग, सूर्य नमस्कार, कमर दर्द के लिए विशेष पैकेज दिया। 

मानसिक विकारों को दूर करने के लिए भ्रामरी, उद्गीत और ओम का अभ्यास कराया गया। प्रशिक्षण के दौरान यह पता चला कि ज्यादातर कैदियों को त्वचा रोग, बवासीर और कमर दर्द में होता है। इसके लिए प्रशिक्षकों ने कैदियों को एक्यूप्रेशर द्वारा इन रोगों को दूर करने के लिए हाथ में ऐसे कुछ महत्वपूर्ण प्वाइंट को बताया गया जिसको मात्र प्रतिदिन दबाने से उपरोक्त रोगों को दूर किया जा सकता है। शिविर के अंतिम दिन जेलर कुलदीप सिंह भदौरिया ने शिविर में आकर योग पर महत्वपूर्ण प्रकाश डालते हुए कैदियों को यह संदेश दिया कि योग को अपने जीवन का अभिन्न अंग बनाते हुए इसे प्रतिदिन करें। इस अवसर पर जेल अधीक्षक एसके पाण्डेय, जेल शिक्षक प्रदीप अस्थाना, चीफ वार्डन श्रीप्रकाश उपाध्याय, जेल चिकित्सक डा. रविराज सहित तमाम लोग उपस्थित रहे।

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item