भारत की आजादी में मील का पत्थर है भारत छोड़ो आंदोलन: प्रो0 तबस्सुम फरकी

 जौनपुर। गांधी स्मारक पीजी कॉलेज समोधपुर में प्रबंधक हृदय प्रसाद सिंह 'रानू' के संरक्षकत्व में एवं प्राचार्य प्रोफेसर बी. के. निर्मल की अध्यक्षता में आजादी का अमृत महोत्सव एवं हर घर तिरंगा अभियान के अंतर्गत "भारत छोड़ो आंदोलन के महत्व" विषय पर एक दिवसीय वेबिनार का आयोजन किया गया। 

इस वेबीनार में मुख्य वक्ता एम. एल.के.पी.जी. कालेज बलरामपुर में इतिहास के विभागाध्यक्ष एवं आईक्यूएसी के समन्वयक प्रोफेसर तबस्सुम फरकी रहे।अपने उद्बोधन में प्रोफ़ेसर तवस्सुम फरकी ने भारतीय इतिहास में 8 अगस्त,1942 के महत्व को रेखांकित करते हुए बताया कि आज ही के दिन 1942 के भारत छोड़ो आंदोलन की आधारशिला मुंबई में शाम को कांग्रेस के अधिवेशन में ग्वालिया टैंक मैदान, वर्तमान में अगस्त क्रांति मैदान में रखी गई थी। जिसमें गांधी जी ने "अंग्रेजों भारत छोड़ो का नारा दिया" और भारतीयों का आह्वान किया कि "करो या मरो"। जिसका परिणाम यह रहा ब्रिटिश हुकूमत को यह आभास होने लगा कि अब हम भारत में शक्ति के बल पर बहुत अधिक लंबे समय तक शासन नहीं कर सकते और अंततः एक लंबे संघर्ष के बाद भारत को आजादी देने के लिए वे बाध्य हो गए। 
भारतीय इतिहास में 1942 के इस आंदोलन को मील का पत्थर माना जाता है जिसने यह तय कर दिया कि दुनिया की सबसे शक्तिशाली शक्ति ब्रिटिश हुकूमत को भी भारतीयों में जागृत हुई चेतना के परिणाम स्वरूप भारत से अपना बोरिया- बिस्तर बांधना पड़ा।तत्कालीन सभी बड़े नेताओं आठ और नौ अगस्त को गिरफ्तार कर लिया गया।जनता स्वतः स्फूर्त ढंग से इस आंदोलन में कूद पड़ी। गांधी जी एवं कांग्रेस के बड़े नेताओं की गिरफ्तारी के बाद लालबहादुर शास्त्री, जयप्रकाश नारायण, राम मनोहर लोहिया जैसे नेताओं ने आंदोलन को धार दिया। कार्यक्रम का संचालन डॉ राकेश कुमार यादव, संयोजक आजादी का अमृत महोत्सव एवं हर घर तिरंगा अभियान ने किया तथा धन्यवाद ज्ञापन प्रोफेसर रमेश चंद्र सिंह ने दिया। 
 इस अवसर पर कार्यक्रम के संयोजक डॉ अरविंद कुमार सिंह, सह संयोजक विकास कुमार यादव,डॉ लक्ष्मण सिंह, डॉ वंदना तिवारी, डॉ मनोज मिश्र, डॉ अवधेश कुमार मिश्र, डॉ राज बहादुर यादव, डॉ आलोक प्रताप सिंह, डॉ पंकज सिंह,जितेंद्र सिंह, डॉ नीलम सिंह, डॉ नीलू सिंह, जितेंद्र कुमार ,विष्णुकांत त्रिपाठी, डॉ लालमणि प्रजापति, डॉ शशिकान्त सहित बड़ी संख्या में छात्र उपस्थित रहे।

Related

जौनपुर 2069474478520100693

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item