शिकायत पर राजभवन हुआ गम्भीर

 

जौनपुर। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय में राज्यपाल से नामित कार्यपरिषद सदस्य डॉ. ओपी चौधरी के खिलाफ राज्यपाल से की गई शिकायत को राजभवन संज्ञान में लेते हुए कुलपति को पूरे मामले की जांच करने का आदेश दिया है। यह मामला शिक्षक नेता विजय तिवारी की शिकायत पर उठा है।

अनुदानित महाविद्यालय/ विश्वविद्यालय अनुमोदित शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष डॉ विजय प्रताप तिवारी ने राजभवन को पत्र लिखकर यह शिकायत की थी कि डॉ. ओपी चौधरी अग्रसेन कन्या पीजी कॉलेज वाराणसी में प्रोफेसर रहते हुए यूजीसी के गांधीपीठ में भ्रष्टाचार व लाखों रूपये का गबन किए थे और जिसकी जांच में दोषी पाए गए थे, डॉ. तिवारी ने आरोप लगाया है कि डॉ. ओपी चौधरी के खिलाफ शासन से हुई जांच और सीएजी की जांच में भी दोषी पाए गए हैं। बावजूद इसके तथ्यों को छिपाकर राजभान की आंख में धूल झोंक कर डॉ. ओपी चौधरी राजभवन से कार्यपरिषद में सदस्य नामित हो गए।

 शिकायत को गंभीरता से लेते हुए राज्यपाल सचिवालय के पत्र संख्या ई- 4846/4963/20- जी०एस०/ 2022 दिनांक- 29/08/ 2022 द्वारा कुलपति को शिकायतकर्ता से शपथ पत्र लेकर पूरे प्रकरण का परीक्षण पर आवश्यक कार्यवाही करने का निर्देश दिया है।

Related

डाक्टर 1427658610319414346

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item