बजट होने के बावजूद देयकों का भुगतान न होना डीआईओएस कार्यालय की तानाशाही है- रमेश सिंह

 

जौनपुर। बोर्ड परीक्षा 2023 की तैयारियां जोरों पर हैं जबकि पिछली परीक्षा 2022 की उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन सहित अन्य देयकों को पाने के लिए शिक्षक/कर्मचारी जि0वि0निरीक्षक कार्यालय का चक्कर काट रहे हैं। इस सम्बन्ध में उ0प्र0मा0शि0संघ (सेवारत) के प्रदेश अध्यक्ष रमेश सिंह ने अवगत कराया है कि शासन द्वारा परिषदीय परीक्षा 2022 के मूल्यांकन कार्य में लगे हुए शिक्षकों के यात्रा भत्ता,दैनिक भत्ता, मूल्यांकन पारिश्रमिक सहित अन्य देयकों के भुगतान हेतु 23 नवम्बर को ही रूपए   8499152/00(चौरासी लाख निन्यानबे हजार एक सौ बावन)का आवंटन किया जा चुका है।सभी मूल्यांकन केन्द्रों द्वारा बिल भी जमा किया जा चुका है लेकिन जि0वि0निरीक्षक कार्यालय उक्त धनराशि पर ब्याज कमाने की लालच अथवा अपनी तानाशाही प्रवृत्ति के कारण लगभग चार माह बीत जाने के बाद भी भुगतान नहीं कर सका है।

इस सम्बन्ध में कई बार सेवारत संगठन के जनपदीय पदाधिकारियों द्वारा लिखित और मौखिक निवेदन भी किया जा चुका है लेकिन जि0वि0निरीक्षक कार्यालय इसे अनसुना करता रहा है। अब इस सम्बन्ध में अगले एक दो दिन में प्रदेश अध्यक्ष रमेश सिंह, प्रदेश उपाध्यक्ष राकेश सिंह एवं जनपद अध्यक्ष तेरस यादव सहित सभी जनपदीय पदाधिकारियों जिलाधिकारी महोदय से मिलकर भुगतान कराने का आग्रह किया जाएगा। यदि एक सप्ताह के अन्दर पारिश्रमिक और भत्तों का भुगतान सुनिश्चित नहीं हुआ तो विवश होकर सेवारत संगठन द्वारा जि0वि0निरीक्षक कार्यालय में तालाबंदी की जाएगी जिसका सम्पूर्ण उत्तरदायित्व जि0वि0निरीक्षक कार्यालय पर होगा।

Related

डाक्टर 4640063852500514846

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item