कुशल प्रशासक सरल और शानदार व्यक्तित्व के धनी थे पूर्व मुख्यमंत्री श्रीपति मिश्रा: सुरेंद्र त्रिपाठी

 

जौनपुर। पूर्व मुख्यमंत्री स्व0 श्रीपति मिश्रा की आज 20 वी पुण्यतिथि के मौके पर कांग्रेस कार्यकर्ताओ ने उन्हें अपनी श्रद्धासुमन अर्पित किया। इस मौके जारी प्रेस नोट के माध्यम से कांग्रेसी नेता सुरेंद्र त्रिपाठी ने कहा कि स्वर्गीय पूर्व मुख्यमंत्री श्रीपति जी का जो योगदान प्रदेश के विकास के लिए रहा उसे भुलाया नही जा सकता है। साथ ही जौनपुर और सुल्तानपुर उनकी कर्मभूमि रही है ।

 कई बार सुल्तानपुर और मछलीशहर जौनपुर से सांसद रहे शुरुआती दिनों में बीएचयू से लॉ की पढ़ाई करने के बाद मुंसिफ मजिस्ट्रेट रहे 4 साल के नौकरी के बाद त्यागपत्र देकर राजनीति में आए और ग्राम प्रधान से लेकर मुख्यमंत्री तक पहुंचे अपने जीवन में बेदाग व्यक्तित्व रहे, वे कुशल प्रशासक सरल और शानदार व्यक्तित्व के धनी, प्रख्यात विधिवेत्ता श्रीपति मिश्र का आज 20 वीं पुण्यतिथि है आपकी बहुत याद आती है जौनपुर में संसदीय कार्यकाल के दौरान पूर्वांचल विश्वविद्यालय सतहरिया औद्योगिक क्षेत्र शाहगंज चीनी मिल ,पिलकिछा का पुल, बदलापुर तहसील सहित कई उच्च प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की स्थापना कराया अपने लोकसभा क्षेत्र में जिसमें सबसे महत्वपूर्ण वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय की स्थापना रहा वीर बहादुर सिंह जी जो मूलतः जौनपुर के ही थे ने जौनपुर में विश्वविद्यालय बनाने की घोषणा की थी लेकिनइसी बीच हुआ हट गए और मामला ठंडे बस्ते में चला गया इसके पश्चात माननीय श्रीपति जी ने उस समय के मुख्यमंत्री पंडित नारायण दत्त तिवारी से दबाव बनाकर विश्वविद्यालय स्थापना की घोषणा करा शिलान्यास भी कराए उसी दिन बदलापुर तहसील की भी स्थापना और शिलान्यास हुआ था सावन की रत्ना शुगर मिल जो उसमें निजी चीनी मिल थी वह बंद हो गई थी वहां के कर्मचारी सद्भाव और नागरिक परेशान थे उसे मुख्यमंत्री माननीय नारायण दत्त तिवारी पर दबाव बनाकर अधिग्रहण कराकर चीनी मिल चालू करवाएं यदि चीनी मिल बसपा सरकार ने बेच दिया है और बंद भी है और सब से अलौकिक काम जौनपुर के लिए सतारिया औद्योगिक आस्थान की स्थापना करवाई जिसका शिलान्यास भारत के प्रधानमंत्री रहे राजीव जी ने किया था जो आज मृत प्राय हो गई है। जब वह मुख्यमंत्री हुए थे तो पूरे प्रदेश में डकैतों का गिरोह बहुत सक्रिय था उनके पहले के मुख्यमंत्री आदरणीय बीपी सिंह जी के समय से विकराल समस्या थी लेकिन पंडित श्रीपति मिश्र जी ने शपथ लेते ही उस समस्या का निदान कर दिया था,उस समय की प्रधानमंत्री पूज्य श्रीमती इंदिरा गांधी ने जिनका का बहुत ज्यादा स्नेह पंडित जी को था। उन्होंने ही अयोध्या में रामायण मेला और राम की पैड़ी की स्थापना किया था। 

 

Related

डाक्टर 2945116949730197664

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item