देश के लिए मरने की नहीं जीने की आवश्यकता : घनश्याम शाही

 

जौनपुर। डॉ भीम राव अम्बेडकर के परिनिर्वाण दिवस के अवसर पर संगोष्ठी का आयोजन वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के राजेंद्र सिंह रज्जू भैया के आर्यभट्ट सभागार में किया गया।कार्यक्रम में मुख्य अतिथि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद पूर्वी उत्तर प्रदेश क्षेत्र के क्षेत्रीय संगठन मंत्री घनश्याम शाही व कार्यक्रम की अध्यक्षता कुलपति निर्मला एस मौर्य ने की। 

मुख्य अतिथि श्री शाही ने कहा की पहले नारा दिया जाता था तुम मुझे खून दो मैं तुम्हे आजादी दूंगा, उसी प्रकार से आज देश के लिए मरने की आवश्यकता नहीं है बल्कि देश के लिए जीने की आवश्यकता है।विद्यार्थियों को अनुसंधान के माध्यम से प्रयास करना चाहिए जिससे समाज को बेहतर और सस्ती सुविधा उपलब्ध हो सके। हमें समरसता के भाव को आत्मसात करना चाहिए जिससे परिसर में शांति का माहौल रहे और विद्यार्थी व्यापक सोच के साथ कार्य कर सके।
 कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रही कुलपति निर्मला एस मौर्य ने कहा की ऐसे कार्यक्रमों से विद्यार्थियों में व्यक्तित्व निर्माण होता है।विद्यार्थियों को पढ़ाई के साथ साथ सामाजिक कार्यों में भी रुचि लेनी चाहिए।विद्यार्थी की सोच व्यापक एवम दूरगामी होनी चाहिए। 
विशिष्ट अतिथि प्रो अविनाश पाथर्डीकर ने कहा की बाबा साहब के बारे में पढ़ा जाए तो यह ज्ञात होता है की उनके विचार कितने व्यापक रहे थे।युवाओं को चाहिए की वे भीमराव जी के बारे में पढ़ें।समरसता का अर्थ है जैसे खीर के दूध में शक्कर घुल जाती है वैसे ही हमें समाज में समरसता एवम् सद्भाव के साथ रहना चाहिए। कार्यक्रम संयोजक डॉ मनोज कुमार पाण्डेय ने धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम का संचालन उद्देश्य सिंह ने किया। 
उक्त अवसर पर प्रद्युम्न त्रिपाठी,आदित्य,आशीष,पवन,शुभम, यत्नदीप,प्रज्ञा,ब्यूटी,भास्कर,आशीष समेत आदि कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

Related

JAUNPUR 4104735081039896416

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item