चुनावी विगुल बजते ही सत्ताधारी दल के कार्यकर्ताओं ने खोला अपने पार्टी के नेताओ के खिलाफ मोर्चा

जौनपुर। विधानसभा चुनाव का विगुल बज गया, सभी राजनीतिक पार्टियां चुनाव मैदान में बाजी मारने के लिए पूरी ताकत झोक दिया है। चुनाव लड़ने के लिए दावेदारी करने वाले नेता अपनी अपनी पार्टी का टिकट लेने के लिए गुणा गणित कर रहे है। सत्ताधारी पार्टी के माननीयों को भी अपनी सीट बरकरार रखने में इस कड़ाके की ठण्ड में पसीना छुट रहा है। इन जनप्रतिनिधियों को चुनाव से पहले विपक्षी पार्टियों से पहले अपने पार्टी के नेताओं से जंग लड़ना पड़ रहा है। इस सियासी विरोध से सूबे के राज्यमंत्री व नगर विधायक भी अछुते नही है। 

चुनाव की रणभेरी बजते ही भाजपा के जमीनी कार्यकर्ताओं समेत लगातार तीन बार से अपने कार्यशैली के चलते अपने वार्ड से भाजपा के सभासद चुने जाने वाले नेताओं ने भी सोशल मीडिया पर माननीय के खिलाफ भड़ास निकालना शुरू कर दिया है। राजनीति के पण्डितों के अनुसार जो व्यक्ति लगातार तीन बार अपने वार्ड का सभासद चुना जाता है वह बहुत ही कुशल नेता होता है। ऐसा खाटी कार्यकर्ता जब किसी नेता के खिलाफ सार्वजनिक रूप से ऐलाने जंग छेड़ देता है तो उसका अंजाम ठीक नही होता है। 

तीन बार से लगातार सभासद चुने जाने वाले मुकेश सिंह ने तो शायराना अंदाज में अपने पार्टी के नेता पर सोशल मीडिया में तंज कशा तो यह पोस्ट जमकर वायरल होने लगी है। लोगो का भरपूर समर्थन मिला, इसके अलावा तमाम बीजेपी के खाटी कार्यकर्ता चट्टी चौराहे पर खुले आम उक्त नेता का विरोध कर रहे है। ऐसे में यदि पार्टी ने पुनः उक्त नेता को दाव लगाती है तो अंजाम क्या होगा इसका अंदाजा आप लोग खुद लगा सकते है।  

अगर बीजेपी को सूबे में पूर्ण बहुमत से पुनः सरकार बनाना है तो जमीनी कार्यकर्ताओं की मंशा के अनुसार ही अपने प्रत्याशी का चयन करना होगा। 

यह हालात केवल एक सीट पर नही बल्की बीजेपी के कब्जे वाली सभी सीटो पर है। उधर समाजवादी पार्टी के परम्परागत सीटों पर भी यह जंग शुरू है लेकिन अभी तक यह पार्टी के भीतर ही जारी है। 


Related

news 9169078826089141189

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item