माता-पिता की सेवा करना सबसे बड़ा पुण्य:मौलाना शेख हसन

 जौनपुर। ज़मीने मुबारक कदम रसूल छोटी लाइन इमामबाडे़ में मजलिसे ईसाले सवाब मरहूम डॉ.मिर्ज़ा हसन बेग व मरहूमा हाजिया बीबी का आयोजन रविवार की शाम किया गया। मजलिस क ो खेताब करते हुए मौलाना शेख हसन जाफर ने कहा कि वाल्दैन की खिदमत करना सबसे बड़ा सवाब का काम है जिसने अपने माता पिता की सेवा की उसके लिए ख़्ाुदा की तरफ से रहमत अता की जाती है। 

दुनिया में नेक आमाल जिसका होता है उसके लिए जन्नत के दरवाजे खुले रहते हैं। मौलाना ने कहा कि इंसान कभी मरता नहीं है बल्कि उसकी रूह हमेशा अपने लोगों के साथ रहती है बस उन्हें बख्शने के लिए सूरे फातेहा पढ़ने के साथ साथ कुरआन की तिलावतें करते रहना चाहिए। जो लोग अपने वाल्दैन के साथ साथ अपने पूर्वजों को याद करते हैं उनकी रूहें ख़ुश होकर ख़ुदा से उनकी खुशहाली के लिए दुआएं करती हैं। हमे चाहिए कि शबे जुमा अपने मरहूम लोगों की कब्राों पर जाकर सूरे फातेहा पढ़कर उनकी मगफिरत के लिए दुआएं मांगे साथ ही अपनी ख्ुाशहाली के लिए दुआ करे। खुदा अपने नेक बंदों के लिए हमेशा दरवाजा खुला रखता है। मजलिस के बाद अंजुमन शमशीरे हैदरी के नौहेखां शहजादे ने अपने दर्द भरे नौहे पढ़कर माहौल को गमगीन कर दिया। इस मौके पर एजाज हुसैन, नेहाल हैदर, नियाज हुसैन, सैयद गौहर अली जैदी, शाहिद मेंहदी सहित अन्य लोग मौजूद रहे। हसनैन कमर दीपू ने सभी का आभार प्रकट किया।

Related

news 8508653372399563520

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item