"रामराज्य और भारतीय संविधान" विषय पर संगोष्ठी का आयोजन 5 अक्तूबर को

जौनपुर। भगवान श्रीराम का दयालु एवं निष्पक्ष व्यक्तिगत सर्व विदित है, साथ ही उनके राम राज्य की परिकल्पना में भी मानव जीवन के ये भाव आत्मसात । उक्त बातें संगोष्ठी के संयोजक सुशीला कुमार उपाध्याय ने आचार्य कौटिल्य विचार, प्रगतिशील मंच उ०प्र० की बैठक में कहीं उन्होंने कहा कि विभिन्न रामायणों एवं लोक कथाओं में हमें प्रजा के प्रति, श्रीराम के अपारंगत एवं मानवीय मनोथावों के दर्शन होते हैं। जो हमारे आज के संविधान के मूल्यों के सदृश्य हैं। उपाध्याय ने कहा कि आचार्य कौटिल्य विचार, प्रगतिशील मंच उ०प्र० संगोष्ठियों के माध्यम से समाज के लोगों में जागरूकता पैदा करने के लिए प्रयत्नशील हैं। 

उसी क्रम में दिनांक 5 अक्टूबर दिन बुधवार समय 12:00 बजे, स्थान होटल रिवर व्यू में "रामराज्य और भारतीय संविधान" विषय पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया हैं, जिसके मुख्य अतिथि श्री अश्वनी कुमार उपाध्याय एडवोकेट, माननीय सर्वोच्च न्यायालय एवं अध्यक्षता प्रो० डॉ० दिनेशचन्द्र उपाध्याय पूर्वनिदेशक पं० कुन्जीलाल दूबे राष्ट्रीय संसदीय विद्यापीठ, भोपाल, मध्यप्रदेश हैं। बैठक में संगोष्ठी की सफलता के लिए जन-जन को सूचित करने की अपील की गई। बैठक में सुभाष चन्द्र शुक्ल, यादवेन्द्र मिश्र एड०, पं० राजकृष्ण शर्मा, पंकज मिश्र, अशोक शुक्ल, रविशंकर दूबे, शरद उपाध्याय, संतोष मिश्र, रवीन्द्र मिश्रा राजकेशर मिश्र सहित सभी आयोजकगण उपस्थित रहे।


Related

JAUNPUR 4833693437341068679

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item