मशहूर अदाकारा फर्रुख जफर का निधन जौनपुर से भी रहा गहरा नाता, ललई ने जताया दुख

 जौनपुर। हिदी सिनेमा की मशहूर अदाकारा फर्रुख जफर (89) का शुक्रवार की रात लखनऊ के सहारा अस्पताल में निधन हो गया। दस दिन पूर्व उन्हें ब्रेन स्ट्रोक हो गया था। जौनपुर के कलापुर निवासी यह मशहूर अदाकारा चकेसर गांव की तीन बार निर्विरोध ग्राम प्रधान भी रहीं। निधन से जनपदवासी शोकाकुल हैं। विधायक ललई यादव, ज्ञान प्रकाश सिंह समाजसेवियों, बुद्धिजीवियों ने श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए जनपद की अपूरणीय क्षति बताया है। 

शनिवार को मल्लिका जहां कब्रिस्तान एशबाग में दफन किया गयावही ललई यादव लखनऊ पहुंचकर अंतिम संस्कार में शामिल होकर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। उमराव जान से फिल्मी कैरियर की शुरुआत करने वाली फर्रुख ने आखिरी बार गुलाबो सिताबो में अमिताभ बच्चन की बेगम का किरदार निभाया था। पीपली लाइव ने उन्हें खासी शोहरत दिलाई थी। बेगम फर्रुख जा़फर भादी के एक बड़े जमीदार परिवार में पैदा हुईं। उनकी शादी कलापुर में अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त परिवार में हुई। 
शौहर अली जाफर स्वतंत्रता सेनानी और कांग्रेस के बड़े लीडर थे। वह कई वर्षों तक विधान परिषद के सदस्य भी रहे। बेगम फर्रुख के पति अली जाफर का ताल्लुक उर्दू सज्जाद जहीर के खानदान से था। जीवन का काफी वक्त उन्होंने चकेसर गांव मे गुजारा, जहां उनकी पैतृक संपत्तियां थीं। बेगम फर्रुख जफर ने कैरियर की शुरूआत सन 1963 में आल इंडिया रेडियो में बतौर अनाउंसर की थी। वह भारत की पहली महिला अनाउंसर थीं। बाद में उन्होंने हिदी सिनेमा की तरफ रुख किया। पहली ही फिल्म उमराव जान में सदाबहार अभिनेत्री रेखा की मां का किरदार निभाया। भारतीय मीडिया पर बनी व्यंगात्मक फिल्म पीपली लाइव ने उन्हें खासी शोहरत दिलाई। सुल्तान व स्वदेश जैसी फिल्मों के साथ ही लखनऊ के नवाबी कल्चर पर हाल ही में बनी गुलाबो सिताबो में बेगम फर्रुख जफर आन स्क्रीन अमिताभ बच्चन की बेगम बनीं। गुलाबो सिताबो उनकी आखिरी फिल्म थी। उन्होंने 89 साल की उम्र में उन्होंने आखिरी सांस ली। उनकी दो बेटियों में एक महरु जफर एक अखबार की बड़ी पत्रकार हैं और दूसरी बेटी लखनऊ में कांवेंट स्कूल चलाती हैं। वे चकेसर गांव की तरक्की और बालिकाओं की शिक्षा के लिए काफी फिक्रमंद रहीं। भादी में उन्होंने 25 मोहर्रम का जुलूस कायम किया, जिसमें हर साल हजारों लोग शिरकत करते हैं। करीब डेढ़ दशक तक वह खुद जुलूस में शामिल होने भादी आया करती थीं।

Related

news 8820703273058015779

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item