सभी महाविद्यालयों के विद्यार्थियों द्वारा किया जाएगा सूर्य-नमस्कार

जौनपुर: शारीरिक और मानसिक रूप से स्वयं को स्वस्थ और संतुलित रखनें के लिए प्रत्येक विद्यार्थी को नियमित और निरन्तर रुप से भारत की प्राचीनतम विरासत योगाभ्यास के क्रियात्मक और सैद्धांतिक पक्षों को अपनी जीवनशैली का महत्वपूर्ण हिस्सा बनाना चाहिए।

यह बातें स्वामी विवेकानंद जयंती के अवसर पर वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के सभी छात्रों के लिए अमृत महोत्सव के तहत किये जानें वाले पचहत्तर करोड़ बार सूर्य-नमस्कार के शुभारंभ अवसर पर विश्वविद्यालय की कुलपति डॉ निर्मला एस मौर्य के द्वारा कही गई है। विश्वविद्यालय के एन.एस.एस के स्वयंसेवकों के द्वारा सांकेतिक रूप से वर्चुअल रुप से सूर्य-नमस्कार का शुभारंभ हुआ। राष्ट्रीय स्वयंसेवक के संयोजक डॉ राकेश कुमार यादव के द्वारा बताया गया की सभी स्वयंसेवकों के द्वारा प्रतिदिन तेरह बार सूर्य-नमस्कार को इक्कीस दिनों तक किया जाएगा और उसके बाद वह भारत सरकार के द्वारा इस अभियान में प्रतिभाग के लिए प्रमाणपत्र प्राप्त कर सकते हैं। पतंजलि योग समिति के प्रान्तीय सह प्रभारी अचल हरीमूर्ति और सोशल मीडिया के प्रभारी कुलदीप योगी के द्वारा सूर्य-नमस्कार को कराते हुए बताया गया की सर्वोत्तम स्वास्थ्य की दृष्टि से प्रत्येक व्यक्ति के जीवनशैली में सूर्य-नमस्कार को सम्मिलित करनें के उद्देश्य के तहत योग गुरु बाबा रामदेव के नेतृत्व में केन्द्र और राज्य सरकारों के संयुक्त तत्वावधान में वैश्विक स्तर पर यह अभियान चलाया जा रहा है।इस मौके पर नोडल अधिकारी डॉ अजय विक्रम सिंह, डॉ विनय वर्मा, डॉ अवधेश मौर्य, डॉ राकेश बिन्द, डॉ शशिकांत यादव, डॉ जगदेव, शारदानंद उपाध्याय, कयामुद्दीन ख़ान, सर्वेश यादव और मुन्ना राम राऊत मौजूद रहे।

Related

news 6515965921148909450

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item