समाज में फैली कुरीति है मृत्यु भोज: राजदेव यादव

 

जौनपुर। मृत्यु भोज समाज में फैली कुरीति समाज के लिए अभिशाप है। इसका बहिष्कार होना चाहिए। उक्त बातें अखिल भारतवर्षीय यादव महासभा के संरक्षक राजदेव यादव ने करंजाकला ब्लाक के ग्रामसभा जमुनीपुर में वीरेंद्र यादव के मां की मृत्यु के बाद श्रद्धांजलि समारोह में कही। इसी क्रम में सपा के वरिष्ठ नेता लालचंद यादव ने कहा कि मृत्यु भोज फिजूल खर्ची का जरिया है। इससे लोगों को बचना चाहिए। बचे पैसे से समाज में लोगों की मदद करें। कार्यकारी अध्यक्ष डा. राजपति यादव ने बताया कि रूढ़ीवादी को समूल नष्ट करने के लिए समाज संगठन को संकल्प लेना जरूरी है तो मृत्यु भोज उन्मूलन एवं समाज हित है। संरक्षक सदस्य जियाराम ने बताया कि पहले गंगा के पवित्र जल को घर में पवित्र किया जाता है। अगले दिन त्रयोदशी पर 13 ब्राह्मणों पूज्यजनों रिश्तेदारों और समाज के लोगों को सामूहिक रूप से भोजन कराना गलत है। जिला एडिटर जनार्दन यादव ने बताया कि इतना खर्चीला हो गया कि कई दुखी गरीब परिवारों को इसके कारण कमर टूट जाती है। वह कर्ज के तले दब जाते हैं। रिटायरमेंट दरोगा सुदर्शन यादव ने बताया कि गीता में श्रीकृष्ण भगवान ने कहा है आत्मा अजर अमर है। आत्मा का नाश नहीं हो सकता। जिला सचिव मायाशंकर यादव ने कहा कि मृत्यु भोज नहीं खाना चाहिए।

श्रद्धांजलि सभा को सपा नेता डा. जितेंद्र यादव, गजराज यादव, अशोक यादव, चंद्रभूषण यादव, दिलीप प्रजापति, नंदलाल, रमेश कुमार, विजय यादव, राजेंद्र प्रकाश, जेपी यादव, रामाश्रय यादव, राम भरोसे मौर्य, पूनम मौर्य आदि ने भी संबोधित किया। इस दौरान लोगों को मृतक भोज न करने की शपथ भी दिलाई गई। महासभा के करंजाकला ब्लाक अध्यक्ष वीरेंद्र यादव ने बताया कि यह प्रेरणा मुझे महासभा के जिलाध्यक्ष लालजी यादव से समाज में सुधार का पहल होता है। इस अवसर पर तमाम लोगों की उपस्थिति रही।

Related

JAUNPUR 2944006007313169066

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item