पराली जलाना दण्डनीय अपराध

 

जौनपुर। कृषि सूचना तंत्र के सुदृढ़ीकरण एवं कृषक जागरूकता कार्यक्रम के तहत शुक्रवार को कृषि विभाग द्वारा विकास खण्ड केराकत एवं डोभी के कार्यालय परिसर में ब्लाक स्तरीय रबी उत्पादकता गोष्ठी/कृषि निवेश मेला का आयोजन किया गया, इसमें किसानों को आधुनिक तकनीकीयो से खेती करने तथा खेतों में पराली न जलाने का सुझाव दिया गया।

            अपर जिला कृषि अधिकारी डा0 रमेश चंद्र यादव ने किसानों को सम्बोधित करते हुए कहा कि सरकार किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना अंतर्गत प्रत्येक किसान को हर चार माह पर रु0 दो हजार की किस्त के रूप में कुल 6000 रूपए वार्षिक आर्थिक सहयोग प्रदान कर रही है, अब तक जनपद में 701000 किसानों को उक्त योजना का लाभ प्राप्त हो रहा है। भुलेख अंकन एवं ईकेवाईसी न कराने वाले किसानों की किस्त रोक दी गयी है ऐसे किसान राजकीय बीज गोदाम पर जाकर भूमि का सत्यापन करा सकते है। ई - केवाईसी के लिए किसान अपना आधार कार्ड लेकर के नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) पर जाकर बायोमेट्रिक ढंग से अपना ईकेवाईसी करा सकते हैं। उन्होंने किसानों से खतों में पराली न जलाने बल्कि बायो डी कम्पोजर से खाद बनाने का सुझाव दिया तथा बताया कि सैटेलाइट से पकड़ें जाने पर जुर्माना के साथ सारी सरकारी योजनाओं से बंचित कर दिए जाएंगे।
             वरिष्ठ कृषि वैज्ञानिक अमहित डा0 संजीत कुमार ने रबी फसलों की वेहतर उत्पादन तकनीक यथा बीज शोधन, लाइन सोईंग, खरपतवार सुरक्षा तथा कृषि वैज्ञानिक डा0 वरूण कुमार ने कम लागत में अधिक उत्पादन वाली प्राकृतिक खेती की जानकारी दिया। अध्यक्षता खण्ड विकास अधिकारी डा0 छोटेलाल तिवारी तथा संचालन एडीओ एजी दयानन्द सिंह व अनुपम सिंह द्वारा किया गया।
             इस मौके पर भाजपा मंडल अध्यक्ष संजय सिंह, एसएमएस रामशंकर सिंह, अनिल कुमार शर्मा, मनीष शर्मा, अशोक यादव, अनिल पांडेय, आनंद सिंह, उषा, सर्मिला, रेखा, आशा देवी आदि किसान मौजूद रहे।

Related

डाक्टर 7808446405593256216

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item