तीन श्रमिकों की मौत से उजड़ गई उनकी कच्ची गृहस्थी

 

जौनपुर।  वाराणसी-लखनऊ राष्ट्रीय राजमार्ग पर सिरकोनी बाजार में रविवार की रात कार की टक्कर से ई-रिक्शा सवार तीन श्रमिकों की मौत से उनकी कच्ची गृहस्थी उजड़ गई। उनकी पत्नी, बच्चों व स्वजन के करुण क्रंदन से जलालपुर थाना क्षेत्र के इजरी व सेहमलपुर गांव का माहौल बोझिल हो गया है। ढांढ़स बंधाने वालों की आंखें आंसुओं से डबडबा जा रही हैं। दोनों गांवों के कई घरों में चूल्हे नहीं जले। 
 ट्रक से बालू उतारने के बाद इजरी गांव के रवींद्र यादव (40), राम प्रवेश यादव (40) व सेहमलपुर गांव के सुभाष यादव (35) ई-रिक्शा से शहर से घर के लिए चले तो उन्हें क्या पता था कि रास्ते में बाहें पसारे मौत उनका इंतजार कर रही है। रवींद्र के परिवार में पत्नी वंदना, चार बच्चे आयुष (13), आयुशी (9),  व अतिथि (5) हैं। उन्हीं के पड़ोसी राम प्रवेश के परिवार में पत्नी अनीता यादव व दो बच्चे आर्यन (12) व मानसी (14) हैं। सुभाष यादव के परिवार में पत्नी मीरा देवी, पुत्री रोली यादव (12) पुत्र सूरज (8) व सागर (5) हैं। मृत श्रमिकों की पत्नियां समझ नहीं पा रही हैं कि बाकी पहाड़ सरीखी जिदगी किसके सहारे गुजारेंगी और कैसे बच्चों का भविष्य संवारेंगी। संवेदना जताने के लिए उनके घर पहुंचने वाले सगे-संबंधी व ग्रामीणों की आंखों से भी आंसुओं की धार फूट पड़ती है। छोटे बच्चों को तो अभी यह भी पता नहीं कि दिन भर मेहनत मजदूरी करने के बाद उन पर प्यार-दुलार लुटाकर पूरी थकान भूल जाने वाले उनके पिता अब उस दुनिया में चले गए हैं, जहां से कोई लौटकर नहीं आता।

Related

news 4997878891459731660

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item