जानिए संजय रावत पर क्यों भड़के अधिवक्ता, दर्ज कराई शिकायत

 जौनपुर। शिवसेना के नेता एवं संपादक संजय रावत के खिलाफ दीवानी न्यायालय के अधिवक्ता हिमांशु श्रीवास्तव ने उत्तर प्रदेश सरकार के पोर्टल आइजीआरएस पर शिकायत दर्ज करा कर तथा पुलिस के उच्चाधिकारियों को प्रार्थना पत्र भेजकर एफ आई आर दर्ज कराने की मांग की है। आरोप है कि संजय राउत ने मुंबई में हुए दुष्कर्म के मामले को सामना अखबार में जौनपुर पैटर्न का बताया जिससे वादी समेत जनपद वासियों को अत्यंत कष्ट पहुंचा तथा जनपद के गौरवशाली इतिहास को कलंकित करने का आरोपी ने प्रयास किया। कोतवाली थाना क्षेत्र के जोगियापुर निवासी अधिवक्ता हिमांशु श्रीवास्तव ने अधिवक्ता उपेंद्र विक्रम सिंह के माध्यम से सामना अखबार के संपादक संजय रावत के खिलाफ ऑनलाइन शिकायत दर्ज कराया। बताया कि जनपद का गौरवशाली इतिहास है। एक ही गांव के 40 से अधिक क्लास वन अधिकारी बने हैं। एक ही गांव के 21 लोगों ने आजादी की लड़ाई में कुर्बानी दी। डीएनए के सबसे बड़े वैज्ञानिक लालजी सिंह भी यहीं के निवासी थे। मुंबई के साकीनाका में दुष्कर्म की दुर्भाग्यपूर्ण वारदात हुई जिसे आरोपित ने सामना अखबार में जौनपुर पैटर्न का बताकर घटिया राजनीति कीःआरोपित के कहने और लिखने की शैली अत्यंत अपमानित व निरादर करने वाली है।जनपद वासियों की नकारात्मक छवि प्रस्तुत करने का आरोपी ने प्रयास किया। संपादकीय को सोशल मीडिया पर प्रमोट किया। 14 सितंबर 2020 को 7:00 बजे शाम वादी अधिवक्ता के अलावा विनोद श्रीवास्तव, अजीत सिंह, मनीष सिंह, निलेश निषाद,बृजेश निषाद आदि ने सोशल मीडिया पर इसे देखा और सुना ।अत्यंत क्षोभ पहुंचा एवं मानसिक कष्ट हुआ। जनपद वासियों की मानहानि करने उन्हें परेशान करने के लिए पब्लिसिटी स्टंट बनाकर अपना मतलब साधने के लिए अनर्गल प्रलाप संपादकीय के माध्यम से आरोपित ने किया जिससे लोगों में घृणा अपमान व असंतोष फैला सांप्रदायिक सौहार्द बिगड़ा एवं लोक शांति भंग हुई।

Related

news 753607869037904215

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item