स्ववित्तपोषित शिक्षक संघ द्वारा नई शिक्षा नीति का किया गया विरोध

जौनपुरः अशासकीय अनुदानित महाविद्यालय स्ववित्तपोषित शिक्षक संघ की एक वर्चुअल बैठक उ0प्र0 सरकार के नई शिक्षा नीति 2020 के विरोध में सम्पन्न हुई, जिसमें सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि हम शासन के नई शिक्षा नीति का पुरजोर विरोध करते है, क्योंकि उ0प्र0 सरकार व सरकार के उच्च शिक्षा मंत्री डाॅ0 दिनेश शर्मा को जब स्ववित्तपोषित शिक्षकों को वेतन मिले या ना मिले से कोई मतलब नहीं है तो, उ0प्र0 के स्ववित्तपोषित शिक्षकों को नई शिक्षा नीति 2020 पाखंड के प्रपंचपूर्ण अनुपालन से कोई मतलब नहीं है। 5000-10000 रूपये कटौती पूर्ण वेतन में अन्र्तराष्ट्रीय मानक की शिक्षा का प्रतिदिन 6 से 8 घंटे, 60 मिनट का प्रतिघंटा शिक्षण कार्य नहीं हो सकता है। इसी शिक्षा नीति का   अनुपालन करने वाले अनुदानित अशासकीय सहायता प्राप्त महाविद्यालयों के स्थाई शिक्षकों को एक तरफ जहां सरकार द्वारा एक लाख रूपये से अधिक का वेतन दिया जा रहा है वहीं अनुदानित महाविद्यालयों में यही कार्य करने वाले स्ववित्तपोषित शिक्षकों को वेतन के रूप में दिहाडी मजदूरों से भी कम वेतन मिल रहा है। सरकार का इससे कोई लेना-देना नहीं है, और लोगों को उच्च शिक्षा की गुणवत्ता का सपना दिखा रहीं है।

प्रदेश अध्यक्ष डाॅ0 विजय प्रताप तिवारी ने संघ के माध्यम से सरकार की नई शिक्षा नीति 2020 के बहिष्कार का एलान करते है, और कहाकि वर्तमान नई शिक्षा नीति 2020 शिक्षा व्यवस्था को नष्ट करने के लिए बनाई गयी है, जिसमें अपने कारपोरेट मित्रों के लिए कम दाम पर मजदूर मिल सके, यह व्यवस्था विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों की स्वायत्ता को समाप्त कर रही हैं, इसका सड़क से लेकर सदन तक विरोध किया जायेगा।
प्रदेश महामंत्री डाॅ0 सौरभ अग्रवाल ने कहा कि वर्तमान शिक्षा नीति 2020 सरकार के हठधर्मिता का प्रतीक है, इसका हर स्तर पर विरोध किया जायेगा और आह्वाहन किया कि सभी शिक्षक संघ एक होकर इसका पूरजोर विरोध करें।
पूर्वान्चल विश्वविद्यालय, जौनपुर के स्ववित्तपोषित शिक्षक संघ के अध्यक्ष डाॅ0 अनुराग मिश्र ने कहाकि सरकार द्वारा स्ववित्तपोषित योजनान्तर्गत पाठ्यक्रमों में एक रूपये का भी अनुदान नही दिया जाता है लेकिन उच्च शिक्षा की नीति को लागू करने के लिए तुगलकी फरमान जारी किया जाता है, जिसके हम हर स्तर पर विरोध करेंगे।
मंत्री डाॅ0 जितेन्द्र त्रिपाठी ने सभी संगठनों का आह्वाहन किया कि एक होकर एक मंच पर आकर उच्च शिक्षा को समाप्त करने की सरकार की योजना का विरोध करें, अन्यथा आने वाली पीढ़ी म शिक्षकों को कभी माफ नहीं करेगी।
इस बैठक में डाॅ0 नागेन्द्र नाथ मिश्रा, डाॅ0 संतोष कुमार पाण्डेय, डाॅ0 ओमप्रकाश दूबे, डाॅ0 नंदू सिंह, डाॅ0 अमिताभ मिश्रा, डाॅ0 देवमणि दूबे, डाॅ0 पतिराम राव, डाॅ0 छविनाथ उपाध्याय, डाॅ0 राममोहन अस्थाना, डाॅ0 अवधेश द्विवेदी, डाॅ0 अनिल कुमार मिश्रा, डाॅ0 सदानन्द मिश्र, डाॅ0 पारूली सिंह, डाॅ0 दीपमाला मिश्रा, डाॅ0 नीरज श्रीवास्तव, डाॅ0 जितेन्द्र तिवारी, डाॅ0 धर्मेन्द्र प्रताप श्रीवास्तव, आदि लोग उपस्थित रहे।

Related

news 1169173249549607327

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item