लखीमपुर काण्ड को लेकर आम आदमी पार्टी ने किया जोरदार प्रदर्शन

 जौनपुर। लखीमपुर में कृषि कानूनों के विरोध में प्रदर्शन कर रहे चार किसानों की केंद्रीय राज्य मंत्री के समर्थकों के वाहन द्वारा रौंदकर की गई हत्या के विरोध में आम आदमी पार्टी ने जिला मुख्यालय पर जोरदार प्रदर्शन किया व प्रशासन के माध्यम से  राज्यपाल को ज्ञापन भी दिया। आम आदमी पार्टी के जिला अध्यक्ष सूर्य नारायण सिंह मुन्ना ने कहा पिछलेे 10 महीने से देश का अन्‍नदाता क‍िसान धरने पर बैठे है, 650 क‍िसानों ने या तो आत्‍महत्‍या की, कड़कड़ाती ठंड से मर गये है । देश की सरकार उनकी एक ही मांग है क‍ि इन तीनों काले कानूनों को वापस ल‍िया जाए।  

दरअसल, ये काले कानून क‍िसानों की मौत का फरमान है और कल की दुर्भाग्यपूर्ण घटना इसी एक अंश है। आम आदमी पार्टी के विधानसभा जफराबाद के प्रत्याशी प्रदीप मिश्र ने कहा कि ये कृषि कानून पूजी पतियों को फसलों के असीमित भंडारण के अधिकार दिए गए हैं। इसके चलते जमाखोरी और कालाबाजारी बढ़ेगी और आम अन्नदाता किसानों की स्थिति सुधारने की जगह पूंजीपतियों के खजाने में वृद्धि होगी। यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि ऐसे कानून का लोकतांत्रिक विरोध कर रहे किसानों को रौद देना लोकतंत्र को रौदना है।

 जिला महासचिव व शाहगंज के प्रत्याशी विनोद प्रजापति ने कहा इन कानूनों के तहत की गई कांट्रैक्ट फार्मिंग की व्यवस्था से एक तरह से जमीदारी प्रथा की फिर से वापसी हो जाएगी। किसान चाह कर भी अपने खेतों पर अपने मनमाफिक खेती नहीं कर सकेगा। इन कानूनों के आलोक में किसानों को अपनी फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य मिल पाना भी संभव नहीं दिख रहा। इन्हीं आशंकाओं को लेकर देशभर में अन्नदाता इन कानूनों का विरोध कर रहे हैं। किसान अपने अधिकारों को सुनिश्चित करने के लिए लड़ रहे हैं, लेक‍िन केंद्र सरकार इन क‍िसानों के संघर्ष का सम्मान करने की जगह उन्हें खाल‍िस्‍तानी, पाक‍िस्‍तानी, गुंडा और मवाली कहकर लगातार अपमानित करने का काम कर रही है। कभी उनके सामने कंटीले तार लगाए जाते हैं, तो कभी लाठियां बरसा कर उनके आंदोलन को दबाने की कोशिश हो रही है। इसी क्रम में कुछ द‍िन पहले केंद्रीय राज्य मंत्री अजय म‍िश्र टेनी का एक आपत्तिजनक बयान आया, जिसमें उन्होंने आंदोलनकारी किसानों को चेतावनी देते हुए आंदोलन खत्म करने के लिए कहा था। केंद्रीय मंत्री की धमकी से गुस्साए क‍िसानों ने उनके गांव में आयोजित उपमुख्यमंत्री के कार्यक्रम के मौके पर शांतिपूर्वक विरोध प्रदर्शन करने की घोषणा की थी। किसान विरोध जताने के लिए जब जमा थे तभी केंद्रीय राज्य मंत्री के समर्थकों की गाड़ियों का काफिला उनके बीच से गुजरा जिसमें एक वाहन द्वारा दुस्साहसिक ढंग से प्रदर्शनकारियों को कुचल दिया गया। किसान प्रकोष्ठ जिला अध्यक्ष विजय गुप्ता ने कहा कि यह घटना अंग्रेजी शासन की जुल्म ज्यादती को भी पीछे छोड़ने वाली है। आजादी के 75 साल बाद भारतीय जनता पार्टी के शासन में घटी इस घटना ने पूरे लोकतंत्र को शर्मसार कर दिया है। लग रहे आरोपों के मुताबिक 4 क‍िसानों को केंद्रीय मंत्री के बेटे द्वारा अपनी गाड़ी से रौंदकर मार देना, उसकी न‍िगाह में क‍िसान की कीमत जानवर से भी कमतर होने का बोध कराता है। ऐसा प्रतीत होता है कि उसकी नजरों में देश के अन्‍नदाताओं की कीमत क‍िसी भुनगे से ज्‍यादा नहीं है। इस दिल दहला देने वाली घटना से पूरा देश सन्न है।प्रदर्शन के बाद आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने दो मिनट मौन रखकर लखीमपुर खीरी में मृतक किसानों को श्रद्धांजलि दी। 

इस अवसर पर अमरनाथ यादव, मोहम्मद गालिब, राजेंद्र कुमार सिंह, त्रिलोकी नाथ मिश्रा, इसरार अहमद, दिलीप सिंह, विद्याधर मिश्र, पंकज चौहान, धर्मेंद्र भारती, बंटी अग्रहरी, कन्हैया लाल सरोज, शमीम अहमद, शैलेंद्र यादव, दूधनाथ गौतम, इमरान सलमानी, रामधनी गौतम, शशि रजक, अरविंद कश्यप, मोनू, मुमताज, ललन सरोज, राहुल प्रजापति, यू के एस यादव, अमर बहादुर, सद्दाम, विंध्यावसनी उपाध्याय, विशाल, अमन, रवि विन्द, राजेश यादव, बृजलाल मौर्य आदि उपस्थित रहे।

Related

news 81712890478238585

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item