अमृत योजना ने हवा में घोला जहर, हजारो छात्र-छात्राओं समेत लाखो लोगो पर मडरा रहा गम्भीर बिमारी का बादल

 जौनपुर। दिल्ली के हवा में जहर घुलने की वजह असंतुलित प्रकृति व पराली जलाना माना जा रहा है। लेकिन जौनपुर नगर का विषैला वातावरण शासन प्रशासन की उदासीनता के कारण हुआ है। भीषण प्रदूषण के कारण करीब दो वर्षो से नगर के दक्षिणी इलाके की जनता का फेफड़ा संक्रमित हो रहा है। अब तो इस इलाके की जनता कहने लगी है सुल्तानपुर जिले में पूर्वाचंल एक्सप्रेस वे पर फाइटर प्लेन उतारा गया यहां हमारा फेफड़ा खराब हो रहा है। 

अमृत योजना के तहत 264 करोड़ रूपये की लागत से नगर में शिविर लाइन बिछाने का कार्य नवम्बर 2019 में शुरू हुआ। इसकी शुरूआत नगर दक्षिणी इलाका कलेक्ट्री कचेहरी से शेखपुर, शेखपुर तिराहा से रोडवेज होते हुए टीडी कालेज के पास स्थित सांईनाथ मंदिर तक सड़क खोदकर पाइप डाला गया। इस इलाके के सभी गली मोहल्ले में पाइप बिछायी गयी। दो वर्ष बीत जाने के बाद भी मात्र 18 प्रतिशत कार्य हो पाया है। 

कचेहरी रोड पर पाइप लाइन बिछने के बाद इतनी घटिया सड़क बनायी गयी कि गिट्टियां के साथ हवा में उड़ रहे गुब्बार तो इस इलाके में रहने वाले सांस के मरीज हो रहे है। उधर टीडी कालेज रोड पर केवल गिट्टी डालकर छोड़ दिया गया। जिसके कारण 24 घंटे गर्दा उड़ रहा है।  इस रोड पर टीडीपीजी कालेज समेत कुल 10 नर्सरी से लेकर डिग्री कालेज है। इसके अलावा दर्जन भर से अधिक कोचिंग सेन्टर है। इन शिक्षण संस्थानों में प्रतिदिन 30 हजार से अधिक छात्र-छात्राएं पढ़ने के लिए आते है इसके अलावा तमाम लोग कोर्ट कचेहरी व अन्य कार्यालयों में आते जाते रहते है। शासन प्रशासन भारी उदासीनता के कारण इन देश के भविष्यों पर गम्भीर बिमारी का संकट मडरा रहा है। 

इस इलाके की जनता और छात्र-छात्राएं इसका जिम्मेदार नगर विधायक व राज्यमंत्री गिरीश चंद्र यादव व अन्य जनप्रतिनिधियों को ठहरा रहे ही है। स्थानीय जनता रामजी सिंह, शिविन्द्र सिंह, राजेद्र मिश्रा, रामू जायसवाल, सुरेश सोनकर, संकठा प्रसाद श्रीवस्तव, भगवान प्रसाद ने कहा कि जब से सीवर लाइन बिछाना शुरू हुआ तभी से हम लोगो की समस्या बढ़ती गयी। हम लोग प्रतिदिन स्वास्थ्य लाभ के लिए टीडी कालेज के मैदान में सुबह टहने के लिए आते थे। लेकिन यह मार्निगंवाक करना बिमारी को बुलाना है। 

उधर छात्रा संध्या सिंह, विमलेश कुमारी, सौम्या पाण्डेय तथा छात्र विमल कुमार, राकेश सिंह, विक्रम शुक्ला समेत दर्जनों छात्रों ने बताया कि हम लोग प्रतिदिन टीडी कालेज में पढ़ने के लिए आते है। कालेज में प्रवेश करने से पहले ही हमारा डेªस पूरी तरह से गंदा हो जाता है, मास्क लगाने के बाद भी धूल मंुह जाने के कारण खासी आने लगती है। ऐसे में हम लोग पहले दवाई करते है उसके बाद पढ़ाई के लिए हिम्मत जुटा पाते है। 


Related

JAUNPUR 3327783895736702556

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item