माता का गर्भ एवं विद्यालय का कक्ष दुनिया के सबसे पवित्रतम स्थान हैं: फादर पी विक्टर

 जौनपुर। सेंटजॉन्स स्कूल सिद्दीकपुर में सोमवार को बाल दिवस उमंग के साथ विभिन्न रंगारंग कार्यक्रमों के बीच मनाया गया। कार्यक्रम का प्रारम्भ विद्यालय के प्रधानाचार्य फादर पी विक्टर ने कक्षा के मॉनिटरों के साथ दीप प्रज्वलित कर किया। 

 इसके बाद ईश प्रार्थना से कार्यक्रम की शुरुआत हुई। कक्षा एलकेजी से कक्षा पाँच तक के बच्चों ने फैंशी ड्रेस कम्पटीशन में भाग लिया। रंग बिरंगे परिधान में सजे हुए बच्चे सबका मन मोह रहे थे।चाचा नेहरू,भगत सिंह,चंद्रशेखर आज़ाद, झाँसी की रानी,रानी पद्मावती आदि रूपों में सजे बच्चों का रूप अत्यधिक आकर्षक रहा। श्रीमती नुरूस सबा ने चाचा नेहरू के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डाला। विद्यालय की शिक्षिकाओं ने अपने बच्चों के समक्ष सुंदर नृत्य प्रस्तुत किया। 
इस अवसर पर परवेज अहमद के नेतृत्व में क्विज प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें कक्षा 9 वीं से 12 वीं तक के छात्र-छत्राओं ने भाग लिया। कक्षा 6 से 8 वीं तक के विद्यार्थियों ने फन गेम में भाग लिया।अंत में छोटे-छोटे बच्चों के नृत्य से विद्यालय प्रांगण झूम उठा। कार्यक्रम के अंत में विद्यालय के प्रधानाचार्य फादर पी विक्टर ने बच्चों को बाल दिवस की बधाई दी।अपने संदेश में फादर ने कहा कि संसार में माता का गर्भ और विद्यालय का कक्ष सबसे पवित्र है। बच्चा अपने माँ के गर्भ एवं अपनी कक्षा से जो संस्कार सीखता है वह जीवन भर नहीं भूलता।पंडित नेहरू ने भी देशभक्ति का जुनून उनके माता-पिता से ही प्राप्त किया था। देशभक्ति और नैतिकता की शिक्षा सर्वप्रथम माँ ततपश्चात शिक्षकों द्वारा दी जाती है। इसलिए देश निर्माण में माताओं एवं गुरुजनों की अहम भूमिका होनी चाहिए।कार्यक्रम में मंच संचालन राहुल वाजपेयी एवं दीप्ती कश्यप द्वारा किया गया। इस अवसर पर प्रेमशंकर यादव,संतोष त्रिपाठी, अरविंद मिश्र सहित समस्त शिक्षक,शिक्षिकाएँ एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।

Related

news 3475444589845570427

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item