राजपूत सम्मान के मान- सम्मान के लिए सभी को एक साथ जोड़कर चलना होगा

 

जौनपुर।  तिलकधारी महाविद्यालय के बलरामपुर हाल में रविवार को राजपूत सेवा समिति द्वारा आयोजित प्रतिभा सम्मान समारोह के मुख्य अतिथि उत्तर प्रदेश सरकार में जलशक्ति मंत्री डा.महेन्द्र सिंह, विशिष्ट अतिथि महाराष्ट्र सरकार के पूर्व गृहराज्य मंत्री कृपा शंकर सिंह व प्राख्यात फ़िल्म कलाकार सुरेन्द्र पाल सिंह ने देश - विदेश में राजपूत समाज का नाम गौरवान्वित करने वाले 13 लोगो को स्मृति चिन्ह, प्रमाण-पत्र व अंगवस्त्रम देकर सम्मानित किया गया। 

अपने सम्बोधन में कैबिनेट मंत्री डा. महेन्द्र सिंह ने कहा कि राजपूत सम्मान के मान- सम्मान के लिए सभी को एक साथ जोड़कर चलना होगा। तभी भारत देश फिर से विश्व गुरु बनेगा। कहा कि राजपूतों का स्वर्णिम इतिहास रहा है। सबसे ज्यादा त्याग व बलिदान राजपूत समाज का है। कहा कि आप भगवान सूर्य, मर्यादा पुरषोत्तम भगवान श्रीराम व भगवान श्रीकृष्ण के बंसज है। आप के ऊपर समाज के हर वर्ग को साथ लेकर चलने की जिम्मेदारी है। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि महाराष्ट्र सरकार के पूर्व गृहराज्य मंत्री कृपाशंकर सिंह ने कहा कि समाज के प्रति अपने जिम्मेदारियों का ईमानदारी के साथ निर्वहन करे। हिंदी सिनेमा के प्राख्यात कलाकार सुरेन्द्र पाल सिंह ने कहा कि राजपूत सेवा समिति को सिर्फ जौनपुर तक ही नही सीमित करे बल्कि पूरे राष्ट्र में राजपूतों की पताका को फहराना है। कहा कि किसी को तकलीफ हो तो सभी मिलजुलकर उनके इस समस्या को सुलझाने का प्रयास करे। कहा कि जुड़ गए तो शेर भी डरेगा और अगर टूट गए तो गीदड़ भी डरायेगा। मुख्य अतिथि व अन्य अतिथियों ने तिलकधारी महाविद्यालय के पूर्व प्रबंधक अशोक कुमार सिंह के चित्र का लोकार्पण किया। समिति के सदस्य ओमप्रकाश सिंह ने स्वागत भाषण के माध्यम से अभ्यागतों का स्वागत किया। संचालन अजय सिंह अध्यक्षता कृषि वैज्ञानिक प्रो. कीर्ति सिंह ने किया। आभार दिनेश सिंह बब्बू ने ज्ञापित किया। इस अवसर पर जफराबाद के विधायक डा. हरेन्द्र प्रताप सिंह, विधान परिषद सदस्य बृजेश कुमार सिंह प्रिंसू, अधिवक्ता दुष्यंत सिंह, प्राचार्य डा. समर बहादुर सिंह, डा. एन के सिंह, शशिमोहन सिंह क्षेम, रविंद्र नारायण सिंह, रत्नाकर सिंह, अजीत सिंह, शशि सिंह, अमर बहादुर सिंह, रविन्द्र प्रताप सिंह, शिक्षक नेता सन्तोष सिंह, अरुण सिंह, सिद्धार्थ सिंह, रजनीश सिंह, प्रदीप सिंह, राजेश सिंह, रवीन्द्र प्रताप सिंह अमर बहादुर सिंह, बिनय सिंह, डा. आलोक सिंह, राजीव प्रकाश सिंह, सर्वेश सिंह, धीरू सिंह आदि प्रमुख रहे।

जिन प्रतिभाओं का सम्मान हुआ उसमे प्राख्यात कृषि वैज्ञानिक प्रो. कीर्ति सिंह, चिकित्सा के क्षेत्र में डा. पी.बी. सिंह, प्राशसनिक सेवा में बद्री प्रसाद सिंह व गौरी शंकर सिंह, विधिक क्षेत्र में आर.पी. सिंह, शिक्षा के क्षेत्र में डा. रणजीत सिंह, समाजसेवा के क्षेत्र में ज्ञान प्रकाश सिंह, प्रगतिशील किसान अशोक कुमार सिंह, महिला सशक्तिकरण हेतु डा. अंजू सिंह, युवा शक्ति हेतु आईएएस आकाश सिंह, पत्रकारिता के क्षेत्र में राजेन्द्र प्रसाद सिंह, लोककला के क्षेत्र में आल्हा सम्राट फ़ौजदार सिंह व उरी में शहीद सैनिक राजेश सिंह के पिता राजेंद्र प्रसाद सिंह। 

Related

news 1836477216156051777

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item