जनवरी ने दिखाया असर , गलन के साथ बढ़ गया ठंड

 खेतासराय। नए साल को सूरज की पहली किरण देखने को लोग सुबह तरस गए, दरअसल आसमान पूरा धने कोहरे और बदली और गलन की वजह से ठंडक की कैद में नजर आया। मौसम वैज्ञानियों के अनुरूप ही गलन जारी असर अभी भी बरकरार है। व्यापारिक दृष्टिकोण से जिले के अति महत्वपूर्ण कस्बा खेतासराय में सुबह ठंड से बचाव का अभी तक कोई इंतजाम नहीं किया गया। 

शनिवार को गलन के साथ ठंड ने जैसे ही अपना रूप दिखाना शुरू किया, हर कोई ऊनी कपड़ा जैकेट, स्वेटर से खुद को दुरुस्त करने में जुट गया लेकिन नगर पंचायत खेतासराय ने पूरे मामले में चुप्पी साध रखा है।
कस्बा के प्रमुख चौराहा, स्टेशन मार्ग, दीदारगंज मार्ग समेत सभी प्रमुख वार्डों में कहीं भी सुबह अलाव जलाने की कोई व्यवस्था नहीं की गई। जिससे गरीब असहाय और मजदूर तबके के लोगों को खासी परेशानी ऊठानी पड़ी।
 पूरे दिन हाड़ तोड़ मेहनत करके   दो वक्त की रोटी जुटाने वाले श्रमिकों को भी काफी परेशानी झेलनी पड़ी।
ऐसे लोगों को ठंड से बचाव के लिए कहीं पर कोई व्यवस्था नही होने से वह पूरे दिन परेशान दिखे।
जिले के खेतासराय नगर पंचायत प्रशासन की इस लापरवाही पर कस्बे के प्रबुद्ध लोगों ने खासी नाराजगी जताई है। क्योंकि एक तरफ नए साल में ठंड ने रफ्तार पकड़ ली है।
दूसरी तरफ ठंड को देखते हुए जिला प्रशासन भी अलर्ट हो गया है । लेकिन खेतासराय नगर पंचायत द्वारा अभी तक ठंड से बचने के लिए अलाव की कोई व्यवस्था नही किया जाना चर्चा का विषय बना हुआ है। खेतासराय कस्बे में सुबह अलाव न जलाए जाने और रैन बसेरा का पूरा इंतजाम न किए जाने के संबंध में मीडिया ने जब नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी अमित कुमार के नंबर पर कई बार कॉल किया तो उन्होंने कॉल रिसीव नहीं किया।
उन्होंने यह भी नहीं बताया कि सुबह अलाव के लिए व्यवस्था कराई जा रही है या कोई विभागीय अड़चन है।

Related

news 8068710450415331624

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item