सदर विधानसभा से विक्की के दावेदारी से कड़ाके की ठण्ड में विपक्षी दलों को छूटने लगे पसीने

जौनपुर। विधानसभा चुनाव 2022 की तारीख का ऐलान किसी भी समय हो सकता है। चुनाव में बाजी मारने के लिए सभी राजनीतिक दल पूरी ताकत झोक दिया है। पुनः सरकार बनाने के लिए बीजेपी के बड़े बड़े नेताओं ने जिले में आकर गर्दा उड़ा रहे है वही समाजवादी पार्टी भी भाजपा को हटाकर लखनऊ की गद्दी पर बैठने के लिए पूरी तरह से जुट गयी है। भाजपा और सपा के अलावा अन्य पार्टियां भी अपनी खोई हुई जनाधार को वापस पाने के लिए जुट गयी है। सबसे बड़ी चुनौती कांग्रेस के लिए है। 

लेकिन सदर विधानसभा से चुनाव लड़ने के लिए जिस शख्स ने दावेदारी ठोका है उससे सत्ताधारी दल नेताओ में  बेचैनी है। यह युवा नेता भले ही पहलीबार राजनीति में कदम रखने जा रहा लेकिन उसका खानदान पुराना कांग्रेसी है। इस परिवार की जिले में ही नही बल्की प्रदेश के बड़े - बड़े राजनीतिक घरानों से गहरा रिश्ता है। 

हम बात कर रहे है पूर्व विधायक स्वर्गीय रामकृष्ण उपाध्याय के पौत्र विकेश उपाध्याय उर्फ विक्की की। विक्की जिले के सबसे प्रतिष्ठित कपड़े के शो रूम के एण्ड संस के मालिक है। उन्होने जब यह व्यापार शुरू किया था उस समय उनके माता पिता ने सपने भी नही सोचा था कि विक्की इस धंधें में सफल होगा। लेकिन विक्की अपने कुशल क्षमता व अपने व्यवाहर से कुछ महीने में ही अपने व्यापार को शीर्ष पर पहुंचा दिया, उसके बाद लोग  विक्की को के एण्ड संस के नाम से जानने पहचानने लगे। विक्की के सफलता का कारण है उनका व्यवहार और उनके हर परिवार के सदस्यो का हर जाति धर्म अच्छा रिश्ता होना। विक्की को यह संस्कार विरासत में मिला है। विक्की के दादा डाॅ रामकृष्ण उपाध्याय शुरू से कांग्रेस से जुड़ेे रहे वे चार बार रामपुर ब्लाक के प्रमुख रहे , 1977 से लेकर 1984 तक बरसठी विधानसभा से विधायक रहे तथा 1986 से लेकर 1996 तक उत्तर प्रदेश भारतीय चिकित्सा परिषद के चेयर मैन रहे। 

उनके चार पुत्र जगदीश प्रसाद उपाध्याय राजनीति से दूरी बनाते हुए किसानी किया , दूसरे नम्बर के पुत्र डा0 काशीनाथ उपाध्याय चिकित्सा सेवा में रहे। तीसरे नम्बर पुत्र त्रिभुवन उपाध्याय जिला सूचनाधिकरी पद से अवकाश लिया। चौथे पुत्र राकेश उपाध्याय अपने पिता के विरासत को संजोने के लिए राजनीति में है वे मौजूदा समय में कांग्रेस के जिला उपाध्यक्ष है। 

उपाध्याय परिवार की तीसरी पीढ़ी 2022 विधानसभा चुनाव में कदम रखने का ऐलान कर दिया है। विक्की पंजा के चुनाव निशान से मैदान में कुदने की मंशा जाहिर किया तो उनके नाते रिश्तेदार और दोस्तो ने पूरे विधानसभा को बैनर पोस्टरो से पाट दिया। यह संदेश सार्वजनिक होने के बाद विपक्षी पार्टियां खासकर भाजपा नेताओं में हड़कंप मच गया है। यदि पार्टी इस नवजवान को अपना प्रत्याशी बनाती है तो अपना वजूद बचाने के लिए हाफ कांग्रेस को आक्सीजन जरूर मिल जायेगा। 

राजनीति के जानकारो की माने तो यदि भाजपा ने अपना प्रत्याशी नही बदला तो विक्की 2012 विधानसभा चुनाव का इतिहास दोहराकर नया इतिहास रच देगें। 

 


Related

politics 4213865051747502819

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item