सराफा कारोबारियों में भारी आक्रोश , दिया ज्ञापन

जौनपुर। नगर के सराफ़ा कारोबारियों ने जिला प्रशासन और पुलिस के आलाधिकारियों को एक ज्ञापन देते हुए कहा कि शहर के वाजिदपुर तिराहा स्थित एक सैलून में रविवार की रात सिपाही की अवांछित हरकतों के कारण हुई मारपीट के बाद प्रतिष्ठित सराफा कारोबारी के घर पुलिस कर्मियों ने नग्न तांडव किया। सिपाही के विरुद्ध कार्रवाई करने की बजाय लाइन बाजार थाना पुलिस ने चार नामजद व आठ-दस अज्ञात के विरुद्ध गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। इसे लेकर व्यवसायियों खासतौर पर सराफा कारोबारियों में भारी आक्रोश व्याप्त है। 

 प्रतिष्ठित सराफा कारोबारी फर्म गहना कोठी के अधिष्ठाता विनीत सेठ के अनुज विशाल सेठ का 14 वर्षीय पुत्र आयुष बाल कटाने फर्म के गार्डों के साथ गया था। आरोप है कि उसी समय पुलिस लाइन में तैनात बलिया निवासी सिपाही राज कुमार सिंह रघुवंशी बिना वर्दी के सैलून पर पहुंच गया। आरोप है कि वह नशे में था। उसने आयुष को पास बुलाकर परिचय पूछा। आयुष के बताने से इन्कार करने पर कहा कि मैं दोनों हाथों से पिस्टल चलाता हूं। उठा ले जाऊंगा। किसी को पता भी नहीं लगेगा। बुरी तरह सहम गए आयुष ने इसकी जानकारी गार्डों को दी। गार्डों के विरोध करने पर सिपाही उनसे गाली-गलौच करने लगा। पता चलने पर परिवार के और लोग कुछ गार्डों के साथ पहुंच गए। समझाने-बुझाने पर वह उसने भी बदसलूकी करते हुए हाथापाई करने लगा। मारपीट में सिपाही जख्मी हो गया। घटना की जानकारी पुलिस उच्चाधिकारियों को देकर स्वजन घर चले आए। 
पीड़ित परिवार के मुताबिक रात करीब 10.30 बजे दो दर्जन से ज्यादा की संख्या में पुलिसकर्मी ख्वाजादोस्त मोहल्ला स्थित विनीत सेठ के आवास पर धमक पड़े। सीसी टीवी कैमरे का तार तोड़ डाला। गेट तोड़ने की कोशिश करने लगे। गेट न खोलने पर उनके ताऊ महेंद्र सेठ के घर में घुस गए और तोड़-फोड़ करने के साथ ही महिलाओं व बच्चों की पिटाई व अभद्रता की। दो लोगों को हिरासत में लेकर लाइन बाजार थाने ले गए। घटना से परिवार ही नहीं, पड़ोसी भी सहम उठे। 
विनीत सेठ के स्वजन फेसबुक पर लाइव आकर मदद की गुहार लगाने लगे। हैरत की बात तो यह है कि वास्तविकता से परिचित होने पर सिपाही के विरुद्ध कार्रवाई करने की बजाय उसकी तहरीर पर लाइन बाजार थाने में विवेक सेठ उर्फ मोनू, विपिन सेठ, हर्षित सेठ, आयुष व 8-10 अज्ञात के विरुद्ध बलवा, मारपीट, जान से मारने की धमकी, हत्या के प्रयास सहित कई गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया। 
सोमवार की सुबह प्रकरण संज्ञान में आने पर व्यवसायी वर्ग आक्रोशित हो गया है। घटना से आक्रोशित सराफा कारोबारियों ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा व पुलिस कार्यालय में एएसपी (सिटी) डा. संजय कुमार को ज्ञापन सौंपा। कहा कि तथ्यों की जानकारी के बाद भी पुलिसिया तांडव निदनीय और घोर चिता का विषय है। ज्ञापन में मांग की गई है कि पूरी घटना की निष्पक्ष जांच किसी उच्च स्तरीय अधिकारी से कराई जाए। आरोपित पुलिसकर्मी के विरुद्ध कार्रवाई की जाए। हिरासत में लिए गए लोगों को तुरंत छोड़कर किसी तरह की कार्रवाई न की जाए। एएसपी डा. संजय कुमार ने उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया। प्रतिनिधिमंडल में स्वर्ण भारत युवा मंच के अध्यक्ष सुजीत कुमार वर्मा, शुभ सेठ, संदीप सोनी, शुभम सेठ, संजू सेठ, सुरेश सेठ, राजा सेठ, संगम सेठ आदि रहे। खुफिया तंत्र ने भी पूरे घटनाक्रम पर गड़ाई नजर जिले का खुफिया तंत्र पूरे घटनाक्रम पर नजर रखे हुए है। घटना को लेकर व्यापारियों में उपजे असंतोष व आरोपित सिपाही को पूर्व में खुद को इंस्पेक्टर बताते हुए जफराबाद में वसूली करते समय नागरिकों द्वारा दौड़ाए जाने सहित उसके क्रिया-कलापों के बारे में जल्द ही उच्चाधिकारियों को रिपोर्ट देगा।

Related

crime 1069168917761962259

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item