मोहब्बते अहलेबैत निजात का जरिया है:मौलाना मेंहदी हसन

 जौनपुर। नगर के बलुआघाट स्थित मकबूल मंजिल में पांच दिवसीय सालाना मजलिस का 107वें दौर के दूसरे दिन गुरुवार की मजलिस को खिताब करते हुए मौलाना मेहदी हसन वायस जलालपुर अम्बेडकर नगर ने कहा कि दरे अहलेबैत नजात का जरिया है। इस दर से जो भी वाबस्ता हुआ उसके निजात का रास्ता अपने आप खुल गया। उन्होंने कहा कि तारीख इस बात की गवाह है कि अहलेबैत ने इस्लाम के लिए जो कुर्बानियां दी वोह कुर्बानी किसी और घराने नें नहीं दी। दावते जुल अशीरा से लेकर जहां इस्लाम की पहली दावत दी गयी कर्बला तक मोहम्मद और उनकी आल ने ही इस्लाम को आगे बढ़ाने व उसे बचाने का काम किया। 

इस मौके पर उन्होंने बनारस जव्वादिया अरबी कालेज में कार्यरत मौलाना एजाज हसनैन गदीरी के निधन पर अपनी शोक संवेदना प्रकट करते हुए सभी से सुरे फातेहा पढ़वाई। उन्होंने कहा कि मौलाना मरहूम एजाज हसनैन ने पूरी जिंदगी इस्लाम की हकीकत बयान करने में गुजारी और आज उनके निधन से न सिर्फ ओलमाए इकराम बल्कि शिया समुदाय के साथ साथ हर समुदाय के लोग दु:खी हैं। इससे पूर्व सोजखानी काविश व उनके हमनवां ने पढ़ा जबकि पेशखानी वहदत जौनपुरी, हसन फतेपुरी,मुंतज़िर जौनपुरी ने किया। संचालन शोहरत जौनपुर व आभार खुर्शीद मेंहदी, मीसम अली,रज़ा मेंहदी, इरफान हैदर कुमैल मेंहदी व पूर्व सभासद शाहिद मेंहदी ने प्रकट किया।

Related

news 7230572090205433289

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item