स्वास्थ्य को अपनी मौलिक सम्पत्ति बनायेंः अचल हरीमूर्ति

जौनपुर। भारत की प्राचीनतम विरासत योग को आज वैश्विक स्तर पर सर्वोत्तम स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए सार्वभौमिक मान्यता मिल चुकी है जिसके क्रियात्मक और सैद्धांतिक पक्षों के नियमित और निरन्तर अभ्यासों से व्यक्ति अपनी असाध्य बिमारियों से भी छुटकारा पा सकता है। यह बातें विश्व स्वास्थ्य दिवस पर हाइडिल कालोनी में शुरू हो रहे योग प्रशिक्षण शिविर में साधकों को हवन यज्ञ के साथ योगाभ्यास कराते हुए पतंजलि योग समिति के सह राज्य प्रभारी अचल हरीमूर्ति ने कही। सोशल मीडिया के जिला प्रभारी आयुर्वेदाचार्य विकास योगी और डा. ध्रुवराज योगी ने रोगानुसार और अवस्थानुसार लोगों को सरल और सहज सूक्ष्म व्यायामों के साथ भस्त्रिका, कपाल भाति, अनुलोम विलोम, भ्रामरी, उद्गीथ प्राणायामों के साथ ध्यान का अभ्यास कराते हुए ताड़ासन, वृक्षासन, त्रिकोणासन, वीरभद्र आसन, मकर आसन और भुजंगासनों का अभ्यास कराया। इस अवसर पर शिविर संयोजक जय नारायण वर्मा, जितेन्द्र कुमार, राम नारायण, पूजा भारती, स्नेहा यादव, स्वेच्छा, निशा पटेल सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।

Related

जौनपुर 6443395379163739324

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item