त्वरित निस्तारण के लिए संजीवनी का काम करती है लोक अदालत


जनपुर। विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वावधान में शनिवार को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया। ट्रिब्यूनल जज मनोज कुमार सिंह गौतम, बेंच के सदस्य अधिवक्ता हिमांशु श्रीवास्तव  व राना प्रताप सिंह की उपस्थिति में  सड़क दुर्घटना के 23 मुकदमों का निस्तारण किया गया।

मां सरस्वती की प्रतिमा पर दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। ट्रिब्यूनल जज मनोज कुमार सिंह गौतम ने कहा कि लंबित मुकदमों के त्वरित निस्तारण के लिए लोक अदालत संजीवनी का काम करती है। इसमें पीड़ित परिवारों को शीघ्र न्याय तो मिलता ही है।साथ ही बीमा कंपनी व सरकार का भी ब्याज बचने से आर्थिक लाभ होता है।जिस प्रकार अधिवक्ता निस्तारण में सक्रिय भूमिका अदा कर रहे हैं।वह दिन दूर नहीं जब यह भारत का सर्वश्रेष्ठ ट्रिब्यूनल कहलाएगा।बेंच के  सदस्य अधिवक्ता हिमांशु श्रीवास्तव ने कहा कि न केवल लोक अदालत में बल्कि सामान्य कार्य दिवस में भी मुकदमों के निस्तारण का प्रयास किया जाना चाहिए। प्रतिवर्ष करीब 500  मुकदमे एक्सीडेंट क्लेम के दाखिल होते हैं। ऐसी स्थिति में 30 से 40 मामलों का प्रतिमाह निस्तारण होना आवश्यक है और लोक अदालत में निस्तारण की यह संख्या दोगुनी होना चाहिए। तब वास्तविक अर्थों में पीड़ितों को न्याय मिल सकेगा। इस अवसर पर अधिवक्ता जेपी सिंह,सत्येंद्र कुमार सिंह,रविंद्र विक्रम सिंह,जेसी पांडेय, बृजेश निषाद, निलेश निषाद, अवधेश यादव, शोभनाथ यादव, निलेश यादव आदि अधिवक्ता उपस्थित थे।

Related

डाक्टर 7076893824561082189

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item