थानागद्दी ग्रामसभा का विकास उपेक्षित, ग्रामीण सड़कों की हालत बदतर

 पराऊगंज, जौनपुर। भाजपा की सरकार केंद्र और उत्तर प्रदेश में अपने लगातार दो सत्र पूरे करेगी। अगर राजनीतिक विश्लेषको की मानें तो भाजपा की लगातार वापसी विकास के दम पर हुई है किंतु विकास के नाम पर आज भी कई ग्रामीण इलाके उपेक्षित हैं जो विकास की राह देख रहे। केराकत तहसील मुख्यालय से लगभग 4 किलोमीटर दूर थानागद्दी ग्रामसभा में सड़कों का हाल बेहाल है। 

भाजपा के शिक्षक प्रकोष्ठ के मंडल संयोजक पंकज मिश्रा ने उक्त विषय पर टिप्पणी करते हुए बताया कि बरसात का मौसम दस्तक दे रहा है जो अब स्थानीय ग्रामीणों के लिए मुश्किलें पैदा करेगी। ग्रामीण सड़कों की स्थिति इतनी बदतर है कि वाहन तो क्या, पैदल चलना भी खतरनाक है। 
थानागद्दी बाजार में स्थित मेडिकल स्टोर के संचालक विनय पाठक ने कहा कि थानागद्दी पुराने बाजार में जाने वाली सड़क पर जगह-जगह नाली के पानी का जलजमाव है। केराकत मुख्य मार्ग से देवनाथपुर तक लगा टूटा हुआ जर्जर खड़ंजा पिछले दस साल से बेतहाशा विकास की गवाही दे रहा है। कई बार विधायक और सांसद से सुधार हेतु निवेदन किया गया जिस पर ग्रामीणों को केवल आश्वासन मिला किंतु सुधार और निर्माण के नाम पर कुछ नहीं हुआ जिससे ग्रामीणों में रोष है। इस झूठे आश्वासन का खामियाजा भाजपा के पूर्व विधायक दिनेश चौधरी को हार का मुंह देखकर उठाना पड़ा जबकि वर्तमान सांसद भी भाजपा से ही है जिन्हें भी उक्त मामले की जानकारी दे दी गई है। 
अगर बात करें थानागद्दी बाजार में विकास की तो जर्जर सड़कों के कारण बाजार का हाल बेहाल है। खासकर पुराने बाजार में जाने वाली मुख्य सड़क पर सड़कों के किनारे बसे लोगों के घरों के नाली का गंदा पानी बहता रहा है जिस पर बार-बार कहने के बाद भी कोई कार्यवाही नहीं हुई। आज परिणाम यह है कि गड्ढे युक्त सड़क पर भीषण गंदा जलभराव है जिससे आये दिन दुर्घटना होती रहती है। अभी हाल ही में उक्त सड़क की फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी जिसने योगी सरकार के विकास की पोल खोलकर रख दी। 
क्षेत्रीय जनता लगातार विधायक और सांसद को ट्रोल कर रही है। स्थानीय लोगों की मानें तो कई बार मरम्मत के लिए ज्ञापन भी दिए जा चुके हैं। वहीं ग्रामसभा देवनाथपुर में मुख्य मार्ग से राधेश्याम मिश्र के घर तक लगा खड़ंजा जो 25 वर्ष से अधिक पुराना है, का केवल कागजों पर रिपेयर हुआ। आज तक न किसी जनप्रतिनिधि ने उस पर संज्ञान लिया और न ही विकास के नाम पर कोई नयी ईंट पड़ी। देवनाथपुरवासियों की मानें तो विधायक और सांसद प्रतिनिधियों से उपेक्षित दक्षिण पट्टी में लगे इस जर्जर खड़ंजे को पिच में बदलने का आश्वासन लगातार मिलता रहा है किन्तु अब तक किसी ने उक्त सड़कों पर कोई ध्यान नहीं दिया। बरसात में ग्रामीणों को होने वाली कठिनाई बेहद चिंताजनक है। क्षेत्रीय लोग जनप्रतिनिधियों के खिलाफ आक्रोशित हैं जो कभी भी विस्फोटक हो सकता है।

Related

news 5535786214038266522

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item