जानिए क्यों फिर सुर्खियों में आया डूडा विभाग

अनिल कुमार वर्मा ,  डूडा विभाग के परियोजना अधिकारी 

जौनपुर। प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना में  भ्रष्टाचार को लेकर पिछले छह माह सुर्खियों में रहा डूडा विभाग आज अचानक एक बार फिर चर्चा का विषय बन गया। डूडा विभाग के परियोजना अधिकारी अनिल कुमार वर्मा ने आज एक प्रेस कांफ्रेंस करके अपनी सफाई पेश करते हुए बताया कि सारा गोलमाल का खेल विभाग में तैनात सीएलटीसी यशवीर सिंह करते रहे है। मेरे द्वारा हस्तक्षेप करने पर वे अपने राजनैतिक रसूख का दुरुप्रयोग करके उलटे मुझे ही कटघरे में खड़ा करते थे। लेकिन विभागीय और उच्चाधिकारियों की जाँच में दोषी पाए गए यशवीर सिंह को बर्खास्त कर दिया गया तथा उनके विरुद्ध लाइन बाजार थाने में धारा 419 , 420 , 467 , 468 , 471 , 120 बी और 409 के तहत मुकदमा दर्ज करा दिया गया है। मालूम हो कि पूर्व सीआरओ राजकुमार द्विवेदी ने अपने जाँच में पाया था कि इस विभाग में गैंग बनाकर लूटपाट किया गया था। इस आरोप का भी ठीकरा डूडा अधिकारी ने बर्खास्त किए गए यशवीर सिंह के सर पर ही फोड़ा है। 

 प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना में भ्रष्टाचार के आरोप में बर्खास्त किए गए डूडा विभाग में सीएलटीसी यशवीर सिंह के पिता दिनेश सिंह  बीजेपी के बरिष्ठ नेता है । यशवीर सिंह की तैनाती सन 2018 में हुई थी।  डूडा विभाग के परियोजना अधिकारी अनिल कुमार वर्मा ने बताया कि श्री सिंह कन्सलटेन्ट एम0आई0एस0 के साथ आपराधिक षडयंत्र करके प्रधानमंत्री आवास योजना-शहरी के 07 लाभार्थियों को दुबारा प्रथम किस्त की धनराशि पचास-पचास हजार तथा 05 लाभार्थियों को दुबारा द्वितीय किस्त की धनराशि डेढ़-डेढ़ लाख एवं 12 ऐसे व्यक्ति जिनका नाम प्रधानमंत्री आवास योजना-शहरी के डी0पी0आर0 में शामिल ही नही है (आउट आफ डी0पी0आर0) को प्रथम एवं द्वितीय किस्त की धनराशि तथा 03 लाभार्थियों के प्रथम किस्त की धनराशि दूसरे व्यक्ति के खाते में अवमुक्त कर वित्तीय अनियमिता एवं भ्रष्टाचार किया गया। इस मामले में मुख्य राजस्व अधिकारी द्वारा सी0एल0टी0सी0 एवं एम0आई0एस0 को नौकरी से निकालने एवं नोटिस देकर धनराशि की वसूली करवाने तथा जिलाधिकारी  द्वारा इनके विरूद्ध एफ0आई0आर0 दर्ज कराये जाने का आदेश दिया गया। 

मुख्य राजस्व अधिकारी जौनपुर के निर्देश के क्रम में सी0एल0टी0सी0 यशवीर सिंह, को नोटिस दी गई है, किन्तु श्री सिंह वसूली कार्य के प्रति उदासीन रहे, जिसके कारण जिलाधिकारी के आदेश पर सी0एल0टी0सी0 यशवीर सिंह एवं तत्कालीन एम0आई0एस0 आमिर खान के विरूद्ध थाना लाइन बाजार में प्राथमिकी दर्ज करवाई गई और आवश्यक कार्यवाही हेतु निदेशक सूडा लखनऊ को सूचित किया गया जिस पर सूडा मुख्यालय ने तत्काल प्रभाव से सी0एल0टी0सी0 यशवीर सिंह की सेवा समाप्त कर नौकरी से बाहर कर दिया है। परियोजना अधिकारी डूडा अनिल कुमार वर्मा ने बताया कि यशवीर सिंह स्थानीय होने के कारण जे0ई0 एवं सर्वेयरों को अपने आवास पर बुलाकर उनको डरा धमका कर धन वसूल किया जाता था और जो जेई, सर्वेयर पैसा देने में आनाकानी करता था, वे उस जे0ई0, सर्वेयर द्वारा किये गये आवास के जियोटैग को येन केन प्रकारेण रिजेक्ट कर दिया करते थे। परियोजना अधिकारी डूडा ने बताया कि बदलापुर विधायक रमेशचन्द्र मिश्र को सी0एल0टी0सी0 यशवीर सिंह एवं उनके परिजनों ने भ्रमित कर उनसे नगर विकास मंत्री एवं  मुख्यमंत्री से मेरी झूठी शिकायत कराकर मुझे सीधे अपने मूल विभाग से वापस कराने का प्रयास किया जा रहा है, जबकि सत्यता यह है कि जौनपुर के बाद यदि सबसे अधिक प्रधानमंत्री शहरी आवास तथा इण्टरलाकिंग एवं नाली निर्माण का कार्य कहीं कराया गया है, तो वह है बदलापुर में। डूडा द्वारा बदलापुर में कराये गये विकास कार्य से  विधायक रमेशचन्द्र मिश्र भी भंलि-भांति अवगत हैं, इसके बावजूद वे जगह-जगह मेरी शिकायत करने में लगे हुए हैं।

Related

JAUNPUR 6926992190159484654

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item