चिकित्सा धर्म है इसे पेशा न बनायें डॉक्टर:सहजानंद

 

जौनपुर। आईएमए के राष्ट्रीय अध्यक्ष सहजानंद प्रसाद सिंह ने गुरूवार की शाम नगर के आईएमए हॉल में पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि पूरे देश में कोरोना काल में जिस तरह से डॉक्टरों ने अपनी जान हथेली पर रखकर सेवा कार्य किया उसके लिए खुद हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डॉक्टरों का तहे दिल से आभार प्रकट किया था। ऐसे में हम सभी का कतव्र्य बनता है कि अपने देश के लोगों की सेवा करना हमारा धर्म है। 

आज जिस तरह से कुछ चिकित्सक व झोला छाप डॉक्टरों की वजह से बदनामी पूरे समाज की होती है यह चिंता का विषय है हम ऐसे लोगों का कभी भी समर्थन नहीं करते जो अपने कर्तव्य को निभाने में लापरवाही बरतते हैं। उन्होंने मांग किया ऐसे कथित व झोलाछाप डॉक्टरों के विरूद्ध शासन व प्रशासन कड़ी कार्रवाई करे जिससे हमारे समाज के लोगों की बदनामी से बचाया जा सके। डॉक्टर सहजानंद प्रसाद ने कहा कि चिकित्सा एक धर्म है इसे पेशा न बनाया जाये।

 ईमानदारी के साथ इस धर्म का निर्वहन करते हुए आने वाले मरीजों की सेवा करें और हर संभव कोशिश करें कि हर आने वाला मरीज स्वस्थ होकर खुशी खुशी घर लौटे। आईएमए के चुनाव के संबंध में उन्होंने कहा कि यह सदस्यों के ऊपर निर्भर करता है कि वे बिना किसी भेदभाव के सदस्यों को एक योग्य अध्यक्ष चुनना चाहिए। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में जिस तरीके से चिकित्सकों ने अपने फर्ज का निर्वहन किया उसी प्रकार हमेशा अपने दायित्वों का निर्वहन करना चाहिए।  इस मौके पर आईएमए के जिलाध्यक्ष डॉ.एनके सिंह, महासचिव डॉ.एके जाफरी सहित अन्य डॉक्टर्स मौजूद रहै।

Related

डाक्टर 6824891563969591491

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item