प्रेमी की मौत के मामले में चौंकाने वाला हुआ खुलासा

 

शाहगंज, जौनपुर। स्थानीय नगर के नटौली गांव निवासी प्रेमिका से मिलने आये प्रेमी की मौत के मामले में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। पुलिस की जांच में साबित हुआ है कि युवकों की पिटाई नहीं हुई थी, बल्कि दोनों पेड़ से टकराकर जख्मी हुए थे। बाद में उनमें से एक की मौत हो गई थी। क्षेत्राधिकारी अंकित कुमार ने कहा कि घर वालों के दबाव में दोस्तों ने मनगढ़ंत कहानी गढ़ी जो जांच में फर्जी साबित हुई। बताते चलें कि बीते शुक्रवार की रात आजमगढ़ जिले के सरायमीर थाना क्षेत्र के रंगडीह गांव का पंकज राजभर अपने दो दोस्तों अजीत और हरेंद्र के साथ अपनी कथित प्रेमिका से मिलने शाहगंज कोतवाली क्षेत्र के नटौली गांव पहुंचा था। वापसी में वह और अजीत बुरी तरह जख्मी हालत में घर पहुंचे थे और पंकज की मौत हो गई थी। परिजनों ने अज्ञात लोगों पर युवक की पिटाई का आरोप लगाया था।

 हत्या के एंगल से जांच कर रही पुलिस को तफ्तीश के दौरान कई चौंकाने वाले तथ्य मिले जिसके आधार पर पुलिस इस नतीजे पर पहुंची कि मामला हत्या का नहीं, बल्कि हादसे में पेड़ की डाल से टकराकर जख्मी होने का था। क्षेत्राधिकारी अंकित कुमार ने बताया कि पूछताछ के दौरान मृतक के दोनों दोस्तों ने कबूल किया कि पेड़ की डाल से टकराकर घायल हुए थे। युवकों ने बताया कि रात में पंकज घर पर बगैर बताए नटौली आया था और जब रात में उसकी मां का फोन आया तो उसने कुछ ही देर में घर पहुंचने की बात कही। पंकज ने जल्दी घर पहुंचने के लिए बाइक चला रहे हरेंद्र को स्पीड बढ़ाकर चलने को कहा। दोस्तों ने बताया कि दीदारगंज थाना क्षेत्र के पुष्पनगर में एक पेड़ की डाल काफी झुकी हुई थी। तेज रफ्तार में होने की वजह से बाइक चला रहे हरेंद्र ने आखिरी पल में डाल की ऊंचाई को भांपा और स्वयं झुकते हुए दोस्तों को भी झुकने के लिए कहा लेकिन जब तक पीछे बैठे पंकज और अजीत झुकते, डाल से टकराकर बुरी तरह जख्मी हो चुके थे। क्षेत्राधिकारी के मुताबिक हरेंद्र एक राहगीर की मदद से दोनों को लेकर आसपास के एक दो अस्पतालों में भी गया लेकिन वहां संदिग्ध मामला होने की वजह से भर्ती करने से इनकार कर दिया गया। दोस्तों ने घर वालों को बताया तो उन्होंने जल्द से जल्द घर पहुंचने को कहा। इस बीच काफी खून बहने की वजह से घर पहुंचते पहुंचते पंकज की मौत हो गई। युवकों ने बताया कि घर वाले बाइक के सुरक्षित होने की वजह से दुर्घटना की बात मानने को तैयार ही नहीं थे। बाद में पिटाई की वजह से हत्या की मनगढ़ंत थ्योरी गढ़ी गई। क्षेत्राधिकारी ने कहा कि मृतक के गले में पड़ा चांदी का चैन, लॉकेट और उसकी चप्पल भी दुर्घटना वाली जगह से बरामद की गई है।


Related

डाक्टर 1457794342726249808

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item