केराकत पुलिस की गजब कार्रवाई,एक ही मामले में दो बार किया 151 में चालान


केराकत जौनपुर। केराकत कोतवाली थाना पुलिस की एक ही मामले में दो बार 151 में चालान भेजने का मामला प्रकाश में आया है। हलांकि कोतवाली पुलिस की दलील है कि आरोपी दोबारा झगड़ने लगे तो उन्हें फिर 151 में चालान करना पड़ा।


यह है मामला

केराकत कोतवाली थाना क्षेत्र के थानागद्दी में रविवार को एक पक्ष का एक मनबढ़ लड़का पुलिस चौकी के मुख्य गेट के सामने दूसरे पक्ष के एक लड़के की पिटाई करने लगा।

पिट रहा लड़का खुद को बचाने के लिए ज़ब पुलिस चौकी के भीतर भागा तो मनबढ़ ने उसकी चौकी के भीतर भी पिटाई की। चौकी के भीतर हो रही मारपीट को देखने के लिए बाहर भीड़ जुट गई।

खुद की गरिमा बचाने के लिए स्थानीय पुलिस ने दोनों पक्षों के आधा दर्जन को हिरासत में ले लिया। इसकी जानकारी दलालों को हुई तो वे सक्रिय हो उठे। दबाव में थानागद्दी पुलिस ने सभी को कोतवाली उठा ले गई और 151 में चालान भिजवा दिया।

इधर किसी ने पुलिस चौकी के भीतर हुई मारपीट के मामले को पुलिस विभाग के उच्चाधिकारियों को ट्विट कर दिया। ऊपर से फ़ोन आते ही कोतवाल संजय वर्मा भन्ना गए और चौकी प्रभारी को लचर शैली के लिए फटकार लगाई। और आरोपियों को दोबारा पकड़ने का निर्देश दिया।


दूसरी ओर आरोपी अपनी जमानत कराकर घर लौटने की फिराक में थे तभी पुलिस ने उन्हें दोबारा हिरासत में लेकर थाने के हवालात में बंद कर दिया। रात भर हिरासत में रखने के बाद सोमवार को पुलिस ने सभी आरोपियों को दोबारा 151 में चालान भेज दिया।


एक ही मामले में दो बार 151 में चालान भेजने के मामले की खूब चर्चा हो रही है। इस बारे में पूछे जाने पर कोतवाल संजय वर्मा ने बताया कि पहली बार जमानत कराने के बाद दोनों पक्ष फिर आपस में झगड़ने लगे थे जिसके कारण उन्हें दोबारा हिरासत में लेकर चालान करना पड़ा।


इनका 151 में किया गया था चालान


बम्मावन गांव के रूपक मिश्रा, अमन सिंह और उदयचंदपुर गांव के योगेश यादव, मंगेश यादव, बृजेश यादव और जयहिंद यादव का सीआरपीसी की धारा 151 के तहत चालान भेजा गया था।


इसलिए भेजा गया था चालान


क्रिकेट खेलने के दौरान बम्मावन गांव के रूपक मिश्रा और अमन सिंह ने उदयचंदपुर गांव के योगेश, मंगेश और बृजेश की पिटाई कर दी थी। रविवार को योगेश, मंगेश और बृजेश इसकी शिकायत लेकर थानागद्दी पुलिस चौकी पर गए थे।


जानकारी के अनुसार उसी समय रूपक और अमन सिंह भी वहां पहुंच गए। रूपक और अमन को देख योगेश, मंगेश और बृजेश ने अपना आपा खो दिया और पुलिस चौकी के मुख्य गेट पर ही उसकी पिटाई शुरू कर दी। खुद को बचाने के लिए रूपक और अमन चौकी के भीतर भाग कर गए तो योगेश मंगेश आदि ने चौकी के भीतर पहुंच कर दोनों को पीटने लगे।


वहां मौजूद सिपाहियों ने बीच बचाव का प्रयास किया लेकिन पिटाई करने वाले नहीं रुके। इस बीच चौकी के बाहर भारी भीड़ जमा हो गई। जानकारी होने पर दोनों पक्षों में सुलह समझौता कराने के लिए दलाल भी सक्रिय हो गए। दलालों के दबाव में पुलिस आरोपियों को लेकर कोतवाली थाना चली गई। और हल्की धाराओं में कार्रवाई कर अपना काम खत्म कर लिया।

Related

डाक्टर 2569636047171830059

एक टिप्पणी भेजें

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल

item