कम अंक वाला भी मिशाल बनता है :प्रो0 आर एन सिंह

जौनपुर।परीक्षाओं में अच्छे अंक प्राप्त होना ख़ुशी की बात होती है, उससे छात्रों के भविष्य के बारे में उत्साहवर्धक संकेत मिलते हैं, हकीकत में ऐसा प्रायः होता भी है। परन्तु कम अंक प्राप्त होना यह नहीं तय कर सकता कि भविष्य में ऐसे छात्रों के लिए सफलता के दरवाजे बंद हो जाते हैं। उन्हें यह भी नहीं मान लेना चाहिए कि अब अच्छे दिन नहीं आएंगे। अच्छे अंक प्राप्त होना मात्र क़ाबलियत पर ही नहीं,अपितु अनेक बातों पर निर्भर करता है।उक्त बातें वरिष्ठ मनोवैज्ञानिक , बी एच यू, वाराणसी के प्रो0 आर एन सिंह ने एक संक्षिप्त भेंट वार्ता में बताई।उन्होंने कहा कि ये भी ध्यान देना होगा कि यदि एक परीक्षा में अच्छे अंक नहीं आये तो इसका आशय यह नहीँ लगाना चाहिए कि आगे सफलता की कोई गुंजाईश नहीँ है। आइये हम कुछ उदहारण पेश करते है जो शैक्षिक परीक्षाओं में तो खास नहीँ कर पाए परन्तु जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में बहुत ही अग्रणी भूमिका निभाए है , वे ज़माने के लिए मिशाल हैं। स्टीव जॉब्स को जानते है न ? एप्पल उन्ही के नाम से जाना जाता है। अच्छे अंक नहीं पाते थे, बीच में ही पढाई छोड़ दिया। फिर भी दुनिया उन्हें आदर्श मानती है । यानि, काम बोलता है अंक नहीं। आप ने थॉमस एडिसन का नाम तो जरूर सुना होगा, उनके शिक्षक उन्हें मुर्ख कहते थे। उनके नाम सैकड़ों पेटेंट हुए और इलेक्ट्रिक लैंप भी तो उन्ही की देन है। अब बात अल्बर्ट आइंस्टीन की करते हैं। चार वर्ष तक वे बोल नहीँ पाए, लोग उन्हें मंद बुद्धि वाला मानते थे। परन्तु उन्हें नोबल प्राइज मिला। अब्राहम लिंकन जाने कितनी बार असफल रहे। अंततः अमेरिका के राष्ट्रपति हो गए। चार्ल्स डार्विन के बारे में तो जरूर ही जानते होंगे। वे एक सामान्य छात्र थे, परन्तु अपनी लगन से दुनिया के बारे में लोगों की सोच ही बदल दिया । आइये अब गाँधी जी की बात करते हैं। एक सामान्य छात्र थे, स्वाभाव से शर्मीले थे। स्कूल बंद होने के लिए घंटी का इंतज़ार करते थ। वे अपने कर्म से महात्मा कहलाये और राष्ट्रपिता हो गए। उम्मीद है कि उक्त महापुरुषों के बारे में ये थोड़ी सी जानकरी जो साझा किया है, आप के मन के बोझ को जरूर कम करे देगी, आप में उत्साह का संचार होग। कर्म की प्रधानता स्वीकार करते हुए आप जीवन पथ पर अग्रसर होते जाएँ , अंततः मंज़िल आप की होगी और आप भी भविष्य में दुनिया के लिए मिशाल बनेगें। असफलता से घबराइए नहीँ ,बल्कि उससे सीख लीजिए, प्रयास जारी रखिये, मंजिल आप के पांव तले होगी।

Related

जौनपुर 1550599898418634463

Post a comment

emo-but-icon


जौनपुर का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल

आज की खबरे

साप्ताहिक

सुझाव

संचालक,राजेश श्रीवास्तव ,रिपोर्टर एनडी टीवी जौनपुर,9415255371

जौनपुर के ऐतिहासिक स्थल



item